शिक्षक भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा और गड़बडि़यों को लेकर शासन की बड़ी कार्रवाई

बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव पद से हटाए गए संजय सिन्हा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सूबे के परिषदीय विद्यालयों में सहायक अध्यापक पदों पर नियुक्ति में फर्जीवाड़े और गड़बडि़यों पर आखिरकार कार्रवाई हो ही गई. शासन के निर्देश पर सचिव मनीषा त्रिघाटिया ने सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी के पद पर तैनात डॉ. सुत्ता सिंह को निलंबित कर दिया है. डॉ. सुत्ता सिंह पर भर्ती प्रक्रिया में अनियमितता का आरोप लगाया गया है. निलंबन अवधि तक डॉ. सुत्ता सिंह को शिक्षा निदेशक बेसिक के शिविर कार्यालय से संबद्ध किया गया है. डॉ. सुत्ता सिंह की जगह सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी पद पर अनिल भूषण चतुर्वेदी को तैनात किया गया है.

रूबी बनी सचिव बेसिक शिक्षा परिषद

शिक्षक भर्ती में गड़बड़ी की गाज सचिव बेसिक शिक्षा परिषद का प्रभार देख रहे संजय सिनहा पर भी गिरी है. एससीईआरटी के डायरेक्टर संजय सिन्हा से सचिव बेसिक शिक्षा परिषद का प्रभार वापस ले लिया है. शासन ने सचिव बेसिक शिक्षा परिषद के पद पर रूबी सिंह को तैनाती करने का निर्देश दिया है. इस बारे में विशेष सचिव देव प्रताप ने आदेश जारी कर दिया. रूबी सिंह अभी तक बेसिक शिक्षा निदेशालय में अपर शिक्षा निदेशक के पद पर तैनात थी. फर्जीवाड़े और गड़बड़ी के मामले में रजिस्ट्रार विभागीय परीक्षाओं के पद पर तैनात जीवेन्द्र सिंह ऐरी को भी उनके पद से मुक्त करते हुए वरिष्ठ प्रवक्ता, डायट कौशांबी के पद पर नवीन तैनाती दी गई है. संयुक्त सचिव सर्व शिक्षा अभियान, लखनऊ के पद पर तैनात अजय कुमार को रजिस्ट्रार विभागीय परीक्षाओं के पद पर तैनात किया गया.

कई अन्य किये गये इधर से उधर

इसके साथ ही ललिता प्रदीप को अपर शिक्षा निदेशक, बेसिक शिक्षा निदेशालय, पवन सचान को प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, लखनऊ से संयुक्त निदेशक, सर्व शिक्षा अभियान, लखनऊ, भगवती सिंह को उप निदेशक माध्यमिक शिक्षा निदेशालय से बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यो हेतु शासन से संबंद्ध किया गया है.