- यूनिवर्सिटी में नहीं हुआ एग्जाम्स पेपर्स बनाने का काम

- शिक्षक संघ हुआ खफा, सात मार्च से होंगी परीक्षाएं

agra@inext.co.in

AGRA. डीबीआएयू में एग्जाम्स से पहले पेपर फेल हो गए हैं. आप सोच रहे होंगे कि ये हम क्या कह रहे हैं. हमारा मतलब है कि यूनिवर्सिटी में एग्जाम्स होने से पहले ही स्थितियां नाजुक नजर आ रही हैं. यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने एग्जाम्स की डेट तो एनाउंस कर दी है, लेकिन अभी तक पेपर तैयार करने का काम शुरु नहीं किया गया है. पेपर तैयार कराने में विवि प्रशासन नाकाम नजर आ रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि टीचर्स विवि द्वारा दिए जाने वाले मानदेय से खफा नजर आ रहे हैं.

सात मार्च से हाेंगे एग्जाम्स

यूनिवर्सिटी में मेन एग्जाम्स सात मार्च से स्टार्ट होंगे. बीएससी एग्रीकल्चर की परीक्षाएं सात मार्च से शुरु हो जाएंगीं, जबकि बीए, बीएससी और बीकॉम के पेपर 19 मार्च से होंगे. इसके लिए यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन की तैयारियां अधूरी हैं. न तो कापियां मंगाई गई हैं और न ही पेपर बनाने का काम शुरु हुआ है. जबकि दो तीन महीने पहले से ही पेपर बनाकर सुरक्षित रख लिए जाते हैं. सोर्स बताते हैं कि विवि में कॉकस पेपर्स में खेल करने की फिराक में है. टीचर्स से जुगत लगाकर पेपर आउट करने की तैयारी भी चल रही है.

टीचर्स ने खड़े किए हाथ

क्वेश्चन पेपर तैयार करने से यूनिवर्सिटी टीचर्स हाथ खड़े कर रहे हैं. वे यूनिवर्सिटी द्वारा दिए जा रहे मानदेय को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. यूनिवर्सिटी द्वारा ग्रेजुएशन के लिए 600 और पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए 900 रुपये मानदेय दिया जाता है. वहीं पेपर्स को इंटरनल और एक्सटरनल टीचर्स द्वारा तैयार कराया जाता है. मानदेय न बढ़ने से टीचर्स ने हाथ खड़े कर लिए हैं.

--------

वर्जन

"पेपर बनाने का काम चल रहा है. इसे गुप्त तरीके से बनाया जा रहा है. कॉकस को इसकी भनक नहीं लगने दी जाएगी.

वीके पांडेय, रजिस्ट्रार