- सुबह से ही बूथ पर पहुंचे वोटर्स, गोरखपुर में सवा लाख फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स ने किया मतदान

GORAKHPUR: लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के तहत रविवार को हुए मतदान में फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स ने बढ़चढ़ कर भागीदारी की। पहली बार मिले मतदान के अवसर का लाभ उठाने के लिए वोटर्स का उत्साह देखते ही बन रहा था। पहले मतदान के लिए फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स सुबह से ही पोलिंग बूथ पर पहुंच गए थे। सेंट एंड्रयूज कॉलेज और आदर्श जूनियर हाईस्कूल नंदानगर बूथ पर क्रमश: ऋचा जायसवाल व शालिनी को बूथ के फ‌र्स्ट वोटर का सर्टिफिकेट दिया गया। इसके अलावा भी कई बूथों पर सबसे पहला वोट फ‌र्स्ट टाइम वोटर ने दिया। मतदान में वोटर्स की दिलचस्पी बता रही थी कि पालिटिक्स को लेकर उनमें जागरूकता बढ़ रही है। वोट पोल करने के बाद यूथ्स ने सेल्फी ली और इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इस दौरान कई वोटर्स ग्रुप में सेल्फी लेते हुए भी दिखाई दिए।

सोशल मीडिया पर सेल्फी ही सेल्फी

रविवार को मतदान का जो असर शहर की सड़कों व सुरक्षा व्यवस्था में दिखाई दिया। वोटिंग का उससे भी अधिक प्रभाव सोशल मीडिया पर दिख रहा था। फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स ने वोट पोल करने के बाद सेल्फी लेकर उसे फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल किया। बूथ पर लगे सेल्फी प्वॉइंट पर भी सुबह से ही लोगों की भीड़ लगी रही। फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स ने सेल्फी के लिए जमकर सेल्फी प्वॉइंट का इस्तेमाल किया। कई वोटर्स ने ग्रुप में सेल्फी लेकर भी उसे सोशल मीडिया पर अपलोड किया।

डेवलपमेंट के लिए जरूरी है यूथ्स की भागीदारी

मतदान के लिए पोलिंग बूथ आए फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स के लिए वीवीपैट युक्त ईवीएम मशीन एक रहस्य की तरह लगी। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से मतदान को लेकर यूथ उत्सुक दिखे। बातचीत में सभी ने सहमति जताई कि देश के डेवलपमेंट के लिए जो प्रत्याशी उचित लगा उसे उन्होंने वोट दिया। शोले यादव ने बताया कि राजनीति बेहद गंदी हो गई है और देश में आम लोगों की समस्याओं पर बात करने के बजाए जाति-धर्म, क्षेत्र के मुद्दे पर वोट मांग रहे हैं।

पैरेंट्स की नहीं अपनी मर्जी से दिए वोट

फ‌र्स्ट टाइम वोटर्स ने मतदान में भले ही पहली बार हिस्सेदारी की है और राजनीतिक पार्टियों की नीतियों को लेकर विशेष समझ नहीं हो। लेकिन यूथ्स ने अपनी मर्जी के प्रत्याशी को ही वोट दिया है। नौसड़ बूथ पर पहली बार मतदान करने वाले बंटी शर्मा ने बताया कि वोट डालने का फैसला मेरा खुद का रहा, हालांकि घर वालों ने जिसको वोट दिया है, मैंने उस प्रत्याशी को वोट नहीं दिया। अमृता ने बताया कि चुनाव में मतदान करने को लेकर घर में किसी तरह राय बनाने की कोशिश पैरेंट्स ने नहीं की। जिस पार्टी की नीतियां मुझे पसंद आई उसे ही वोट दिया है।

कोट्स

फ‌र्स्ट टाइम वोटिंग को लेकर मैं बेहद उत्साहित थी। इसलिए सुबह 5:30 बजे ही मैं पोलिंग बूथ पहुंच गई थी। देश के विकास के लिए युवाओं का मतदान बेहद जरूरी है।

- ऋचा जायसवाल

यूथ्स को देश के डेवलपमेंट के लिए आगे आकर वोटिंग जरूर करनी चाहिए। पहली बार मतदान करने को लेकर मैं उत्सुक था। मैंने डेवलपमेंट के लिए वोट किया है।

- एसएम हुजैफा

मैंने अभी तक मतदान करने के बारे में सुना था, पहली बार मतदान करके काफी अच्छा लग रहा है। मैं सुबह छह बजे ही पोलिंग बूथ आ गई थी और सबसे पहला वोट दिया।

- शालिनी

वोट देने का मेरा पहला एक्सपीरियंस था। ईवीएम से वोट देकर अच्छा महसूस हुआ। पहली बार ही वोट के जरिए हमें प्रधानमंत्री चुनना था, इस उत्साह को मैंने इंज्वॉय किया।

- मदीहा अमीन

वोट देने के लिए मैं इतना उत्साहित था कि दोस्त को साथ लेकर सुबह ही बूथ पर आ गया था। वोटिंग के बाद सेल्फी लेकर फेसबुक पर अपलोड कर दिया है।

- बंटी शर्मा

मैं पहली बार वोट दे रही हूं। इसको लेकर पहले से काफी उत्साहित थी। मेरी दादी नवरंग कई बार वोट दे चुकी हैं। मैंने विकास के नाम पर वोट दिया है। हमारा शहर लगातार बदल रहा है। काफी अच्छा लगा वोट देकर, इसका अनुभव उम्र भर याद रहेगा।

- महिमा सिंह

मैं लखनऊ में रहकर पढ़ाई करता हूं। यहां पर मेरी मतदान पर्ची आई थी। देश के विकास और तरक्की के लिए मैंने अपना वोट दिया है। मुझे लगता है कि हर किसी को चाहिए कि वह अपना वोट दें जिससे हम अच्छी सरकार चुन सकें।

- सार्थक