गांधीनगर (पीटीआई)। विदेश मंत्री एस जयशंकर सोमवार को भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा की मौजूदगी में दिल्ली में भाजपा की सदस्यता लेने के बाद अहमदाबाद रवाना हो गए थे। उन्होंने आज मंगलवार को राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। यहां पांच जुलाई को चुनाव होने हैं।(64) एस जयशंकर इसके पूर्व की मोदी सरकार में विदेश सचिव थे और इस बार केंद्रीय कैबिनेट में शामिल हुए हैं। वहीं गुजरात की दूसरी राज्यसभा सीट के लिए भाजपा के ओबीसी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष जुगलजी ठाकोर ने नामांकन दाखिल किया है।

सदन के लिए चुना जाना अनिवार्य होता

बता दें कि ये दोनों ही सीटें हाल ही में भाजपा नेता अमित शाह और स्मृति ईरानी के लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद खाली हुईं हैं।
नियमों के मुताबिक जब कोई मंत्री दोनों सदन का सदस्य नहीं होता है तो उसका शपथ ग्रहण करने के छह महीने के भीतर किसी ना किसी सदन के लिए चुना जाना अनिवार्य होता है। ठाकोर समुदाय के जुगलजी ठाकोर मेहसाणा जिले के रहने वाले हैं। जयशंकर और ठाकोर ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और राज्य भाजपा प्रमुख जीतू वघानी की माैजूदगी में रिटर्निंग अधिकारी सीबी पंड्या को अपना नामांकन पत्र साैंपा।
हाथों में चूड़ियां व मांग में सिंदूर सजाकर लोकसभा पहुंची सांसद नुसरत जहां, दोस्त मिमी संग ली शपथ

पाकिस्तानी टिड्डे भारत में कर रहे घुसपैठ, चिंतित भारत-पाक वैज्ञानिक कर रहे हाईलेवल मीटिंग
नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 28 जून

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और राज्य भाजपा प्रमुख जीतू वघानी जयशंकर के रूप में उपस्थित थे और ठाकोर ने रिटर्निंग अधिकारी सीबी पंड्या को अपना नामांकन फॉर्म सौंपा। नामांकन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 25 जून है। वहीं कागजात की जांच 26 जून और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 28 जून है। वहीं कांग्रेस ने गौरव पंड्या और चंद्रिका चुडासमा को मैदान में उतारा है। ऐसे में गुजरात में राज्यसभा उपचुनाव में बीजेपी-कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है।

National News inextlive from India News Desk