यूजर्स द्वारा ब्‍लाक किए गए लोगों को इस बग ने दे दिया ओपन एक्‍सेस

सैन फ्रांसिस्को (आईएएनएस) Facebook प्लेटफार्म पर मौजूद वर्ल्‍ड यूजर्स की डाटा प्राइवेसी से जुड़े मामले और विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। ताजा मामले में फेसबुक ने स्वीकार किया है कि उसके प्लेटफार्म और मैसेंजर में एक ऐसी बग या वायरस आ गया है, जिसने दुनियाभर के लाखों FBयूजर्स को प्रभावित किया है। इस कंप्यूटर बग ने FB और मैसेंजर ऐप के तकरीबन 8 लाख यूजर्स द्वारा ब्लॉक किए गए लोगों को अनलॉक करके उनके अकाउंट का ओपन एक्सेस दे दिया है।


बग द्वारा पैदा हुई गड़बड़ी के कारण फेसबुक ने मांगी माफी

Facebook के मुताबिक यह कंप्यूटर बग 29 मई से 5 जून के दौरान उनके सिस्टम पर एक्टिव हो गई थी। इस दौरान दुनिया भर के जिन यूजर्स ने किसी को भी ब्लॉक किया होगा, वो सभी लोग फिर से अनलॉक हो गए हैं और वह उन यूजर्स के अकाउंट पर की गई पोस्ट और तस्वीरों को देखने के साथ-साथ उनके फ्रेंड्स ऑफ फ्रेंड्स के एकाउंट्स और बॉल्स को भी देख पा रहे थे। फेसबुक की ओर से ऑफिशियल ब्लॉग पोस्ट में चीफ प्राइवेसी एरिन एगान ने पब्लिक से माफी मांगते हुए लिखा है कि हम जानते हैं कि किसी भी व्यक्ति को ब्लॉक करना आपके लिए कितना महत्वपूर्ण हो सकता है और बग के कारण जो गड़बड़ी हुई है, हम इसके लिए क्षमाप्रार्थी हैं। बता दें कि जब भी कोई यूजर फेसबुक या एफबी मैसेंजर पर किसी अन्य यूजर को ब्लॉक करता है तो वह आपके प्रोफाइल पर मौजूद किसी भी पोस्ट को नहीं देख सकता और मैसेंजर पर आपके साथ चैट नहीं कर सकता। साथ ही साथ ब्लॉक करने से वह यूजर ऑटोमेटिकली अनफ्रेंड हो जाता है। कंपनी ने कहा है कि इस बग द्वारा प्रभावित होने के बाद तकरीबन 83 परसेंट लोगों में से सिर्फ एक परसेंट लोगों द्वारा ब्लॉक किए गए यूजर कुछ समय के लिए अनब्लॉक यानि ओपन हो गए थे। इस दौरान अनब्लॉक किए गए लोग संबंधित यूजर्स के साथ मैसेंजर पर कांटेक्ट कर सकते हैं।

डेटा लीक के बाद अब facebook में आई नई बग,जिसने 8 लाख ब्लॉक्ड यूजर्स को दे दिया ओपन एक्सेस


कैसे ठीक हुई ये प्रॉब्‍लम
?

फेसबुक की ओर से कहा गया है कि फिलहाल उन्होंने इस बग को ठीक कर लिया है और अब कई लाख यूजर्स द्वारा पहले से ब्लॉक किए गए सभी लोग दोबारा से ब्लॉक कर दिए गए हैं। हालांकि कपंनी का कहना है हम सभी अफेक्टेड यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजेंगे ताकि वो लोग अपनी ब्लॉक लिस्ट को दोबारा से चेक कर लें। द वर्ज ने बताया है कि फेसबुक पर यूजर्स की प्राइवेसी से जुड़ा यह पहला इश्‍यू नहीं है। पहले भी कैंब्रिज एनालिटिका डेटा स्कैंडल के दौरान कई करोड़ यूजर्स की पर्सनल जानकारी थर्ड पार्टी ऐप ने हथिया ली थी। यही नहीं एक दूसरी बग के मामले में तकरीबन 87 मिलियन यूजर्स के Facebook अकाउंट की प्राइवेसी सेटिंग पब्लिक हो गई थी।

इस कैमरे द्वारा देख सकेंगे दीवार के आर पार, फिल्मों का झूठ आज हो गया सच!

माइक्रोसॉफ्ट ला रहा है ऐसा नोटपैड टैबलेट जिसे मोड़ कर अपनी जेब में रख सकेंगे

अब Facebook की तरह आ गया इंस्टाग्राम का लाइट वर्जन, पर किसी को नहीं है पता!

Technology News inextlive from Technology News Desk