पुलिस को मिल गया सुराग
गोवा पुलिस का कहना है कि आयरलैंड की महिला के रेप और मर्डर केस में फेसबुक से उसे काफी मदद मिली। कनाकोना पुलिस थाने के पुलिस इंस्‍पेक्‍टर फिलोमेनो आई कोस्टा ने कहा, 'फेसबुक से हमें इस केस को सुलझाने में मदद मिली।' उन्‍होंने कहा कि पहला सुराग हमें इस रेप और मर्डर केस में फेसबुक से ही मिला है, जिसकी वजह से हम सिर्फ दो घंटे और 40 मिनट में मामले की तह तक पहुंच गए। बता दें कि यह केस 14 मार्च की सुबह पुलिस के पास आया। एक स्‍थानीय शख्‍स ने पुलिस को सूचना दी कि दक्षिण गोवा के समुद्र तट पर 28 वर्षीय एक विदेशी की महिला का शव पड़ा है। इसके बाद पुलिस वहां पहुंची और कुछ समय बाद ही एक व्यक्ति को इस मामले में उसकी कथित भूमिका को लेकर गिरफ्तार किया।

फरवरी में भारत आई थी महिला

कानाकोना के पुलिस उपाधीक्षक सैमी टवारेस ने बताया कि दक्षिण गोवा के देवबाग गांव के दूर-दराज के एक समुद्र तट पर मंगलवार को इस महिला का निर्वस्त्र शव मिला। उसके पास ब्रिटिश पासपोर्ट था। उन्होंने बताया कि वह इस साल 23 फरवरी को गोवा आयी थी और तब से वह दक्षिण गोवा में छुट्टियां मना रही थीं। लड़की को कुछ समय पहले कनाकोना के स्‍थानीय लोगों के साथ होली खेलते हुए देखा गया था। अधिकारी ने बताया कि इस सिलसिले में देवबाग के नजदीक स्थित कानाकोना गांव के हिस्ट्रीशीटर विकास भगत को आज गिरफ्तार किया गया और उससे पूछताछ की जा रही है।

टैटू से पहचाना गया चेहरा
रेप और मर्डर के बाद महिला का चेहरा बिगाड़ दिया गया था, ताकि पहचान ना हो सके। महिला की पहचान के लिए कुछ ब्रिटिश लोगों की मदद ली गई, जो वहां मौजूद थे। महिला की कमर पर एक टैटू था। ब्रिटिश युवकों ने फेसबुक पर एक महिला को तलाश किया जिसकी कमर पर ऐसा ही टैटू था। इससे हमें पता चला गया कि इस महिला का चेहरा कैसा था। तब पुलिस को पता चला कि महिला अपने एक ऑस्‍ट्रेलियन फ्रेंड के साथ 13 मार्च को दक्षिण गोवा आई थी। वारदात वाले दिन वह इस दोस्‍त से अलग हो गई थी और कुछ स्‍थानीय लोगों के साथ चली गई थी। तब एक शख्‍स ने हमें विकास भगत के बारे में बताया, जो कई चोरी, लूट ड्रग बेचने के मामलों में लिप्‍त रहा है। हमने विकास को पकड़ा और पूरा मामला साफ हो गया।

National News inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk