मार्क जुकरबर्ग ने अकीला ड्रोन को बंद करने को लिया फैसला

सैन फ्रांसिस्को (आईएएनएस) पिछले दिनों हम सब ने सुना था कि फेसबुक दुनिया भर के तमाम पिछड़े इलाकों या दूरदराज के इलाकों में रहने वाले 4 अरब लोगों तक इंटरनेट सर्विस पहुंचाने के लिए अपना एक हाईटेक ड्रोन अकीला लेकर आ रहा है जो सौर ऊर्जा से आसमान में रहकर इंटरनेट बीम द्वारा उस इलाके में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर करेगा पर अब पता चला है कि फेसबुक ने खुद से इस सोलर ड्रोन को बनाने और विकसित करने के प्रोजेक्‍ट को बंद कर दिया है। बता दें कि इस मामले पर खुद फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बताया है कि उनका यह प्रोजेक्ट दुनिया भर के उन तमाम लोगों को इंटरनेट एक्सेस करने की सुविधा देने के मिशन के तौर पर शुरू किया गया था लेकिन अब हमने फैसला किया है कि हम इस तरह का सोलर संचालित कोई भी ड्रोन एयरक्राफ्ट खुद नहीं डिजाइन करेंगे और ना ही बनाएंगे। कंपनी के मुताबिक यूनाइटेड किंगडम में ब्रिज वॉटर इलाके में चल रही ड्रोन आधारित इंटरनेट फैसिलिटी भी बंद करने का फैसला किया है

HAPS तकनीक के इस्‍तेमाल के लिए फेसबुक लेगी एयरबस का सपोर्ट

फेसबुक में इंजीनियरिंग विभाग के डायरेक्टर येल मैग्‍वायर ने अपने ऑफिशियल ब्लॉग पोस्ट में बताया है कि हम भविष्य में एयर बस जैसे अपने पार्टनर्स के साथ मिलकर HAPS इंटरनेट कनेक्टिविटी सर्विस पर काम करते रहेंगे और इसके लिए जो भी जरूरी तकनीकें होंगी, उन पर हम काम करेंगे। इन तकनीकों में फ्लाइट कंट्रोल कंप्यूटर, हाई डेंसिटी बैटरीज से जुड़ी तकनीकों का विकास शामिल होगा। बता दें कि यहां HAPS का मतलब है 'हाई एल्‍टीट्यूड प्‍लेटफॉर्म स्‍टेशन'।

अब गांव-गांव में कैसे पहुंचेगा इंटरनेट? facebook ने बंद कर दिया aquila सोलर ड्रोन प्रोजेक्‍ट


2014
में शुरु हुआ था 'Aquila' प्रोजेक्‍ट

बता दें कि साल 2014 में फेसबुक ने अकीला ड्रोन को विकसित करने का प्रोजेक्ट शुरू किया था। इसके बाद 2017 में सोलर पावर से चलने वाले उनक इस ड्रोन ने सफलतापूर्वक अपनी दूसरी उड़ान पूरी कर ली थी। उस वक्‍त जुकरबर्ग ने अपनी ब्‍लॉग पोस्‍ट में लिखा था कि आने वाले साल में हम अकीला की टेस्टिंग जारी रखेंगे और इसे लंबी दूरी तक और ऊंचाई पर ले जाएंगे। साथ ही इसमें कई और नए प्लेन जुड़ेंगे जिससे वजन ढोने की इसकी क्षमता भी बढ़ती जाएगी। फिलहाल सिर्फ एक साल बाद ही कंपनी ने इसे बंद करने का फैसला ले लिया है।

इंटरनेट सर्विस के क्षेत्र में फेसबुक करने जा रहा है ये बड़े काम

फेसबुक के मुताबिक HAPS कनेक्टिविटी के लिए सिर्फ एयरक्राफ्ट की बड़ी एहमियत नहीं है बल्कि हमने इस सिस्टम के तमाम महत्वपूर्ण हिस्सों से जुड़ी टेक्नोलॉजी पर काफी काम किया है। जिनमें 'मिली मीटर वेव टेक्नोलॉजी' का इस्तेमाल करके हवा से जमीन और पॉइंट टू पॉइंट कम्युनिकेशन के नए रिकॉर्ड भी बनाए गए हैं। कंपनी के मुताबिक हम पूरी दुनिया में 100 मिलियन लोगों से जुड़े हुए हैं और हम भविष्य की कई नई टेक्नोलॉजी जैसे 'Terragraph' को विकसित करने के लिए इन्वेस्टमेंट करते रहेंगे। येल मैग्‍वायर की ब्‍लॉग पोस्‍ट के मुताबिक हम युगांडा में अपने पार्टनर्स के साथ फाइबर प्रोजेक्ट पर भी काम कर रहे हैं साथ ही तमाम उद्यमियों का सपोर्ट करते हुए हम एक्सप्रेस वाई-फाई सर्विस लाने का प्रयास कर रहे हैं ताकि दुनिया में ऐसे सभी लोगों को जिन्‍हें इंटरनेट एक्सेस नहीं मिला है वो भी इंटरनेट से कनेक्ट हो सकें।

इतना इंटेलिजेंट है यह CCTV कैमरा, कि लाइव रिकॉर्डिंग में खुद ही पकड़ लेता है चोर को!

इंटरनेट के बाद अब TV विज्ञापनों से Facebook करने वाला है आपकी जासूसी?

इस कैमरे द्वारा देख सकेंगे दीवार के आर पार, फिल्मों का झूठ आज हो गया सच!

Technology News inextlive from Technology News Desk