VARANASI: बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा ऐंठने वाले फर्जी आईबी अधिकारी को लंका पुलिस ने रविवार को बीएचयू कैम्पस से अरेस्ट किया। गिरफ्तार आरोपी बिहार के समस्तीपुर निवासी कुश वत्स के पास से दो फर्जी आईडी, दो मोबाइल सहित कुछ संदिग्ध दस्तावेज बरामद हुए हैं। उसके खिलाफ कई शिकायतकर्ताओं ने लंका थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

लगाया था फर्जी बोर्ड
पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि बीटेक पास आरोपी कुश वत्स अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर सीधे-साधे छात्र-छात्राओं को नौकरी दिलाने के नाम पर रुपये ऐंठता था। करीब आधा दर्जन बीएचयू स्टूडेंट्स से पैसे लेकर उन्हें गुमराह कर रहा था। अपने घर के बाहर आईबी अधिकारी का बोर्ड लगाकर रौब जमाता था। इसलिए पीडि़त छात्र कहीं शिकायत भी दर्ज नहीं करा पा रहे थे। एक छात्र की शिकायत पर लंका पुलिस ने जांच कराई तो मामला खुल गया। पहले तो फर्जी आईबी अधिकारी ने पुलिस को ही गुमराह करने की कोशिश की लेकिन बाद में कड़ाई बरतने पर पूरा राज उगल दिया।

साथियों की तलाश
लंका पुलिस फर्जी आईबी अधिकारी की गिरफ्तारी के बाद उसके साथियों की तलाश में जुट गई है। शुरुआती जांच में सामने आया कि आधा दर्जन युवक बिहार से जुड़े हुए हैं। कुछ के लोकेशन बनारस में भी मिले है। इनपुट लेकर जांच में टीम जुटी हुई है। गिरफ्तारी टीम में लंका थाना प्रभारी निरीक्षक भारत भूषण तिवारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्यों की भी जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।