पुलिस अधिकारी करते रहे इंकार, कैंट थाने में डटे रहे तोता के परिजन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: खबर है कि करीब एक वर्ष से फरार माफिया अतीक अहमद के गुर्गे जुल्फिकार उर्फ तोता को बुधवार की आधी रात क्राइम ब्रांच, धूमनगंज व करेली थाना पुलिस ने दबिश देकर कसारी-मसारी स्थित घर से गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन पुलिस अधिकारी देर रात तक इससे इंकार करते रहे. वहीं तोता के परिवार के लोग पहले धूमनगंज और फिर बाद में कैंट थाना में डटे रहे. परिवार के लोगों ने तोता की गिरफ्तारी की पुष्टि के साथ ही एनकाउंटर की प्लानिंग का आरोप लगाया.

कसारी-मसारी का जुल्फिकार उर्फ तोता मंगलवार को इलाहाबाद पहुंचा. क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली कि तोता इलाहाबाद पहुंच गया है. इसके आधार पर क्राइम ब्रांच, धूमनगंज और करेली थाने की पुलिस ने क्राइम ब्रांच प्रभारी नागेश सिंह के नेतृत्व में मुखबिर के बताए अड्डे पर दबिश दी. गुरुवार की भोर में साढ़े तीन बजे उसे उठाया गया.

परिवार वाले भी लग गए पीछे

पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम तोता को उठा कर ले गई तो परिवार के लोग भी पुलिस के पीछे लग लिए और धूमनगंज थाने पहुंचे. सुबह नौ बजे तक तोता की पत्नी और परिवार के लोग वहीं मौजूद रहे. क्योंकि परिजनों को शक था कि कहीं तोता का एनकाउंटर न हो जाए.

सुबह साढ़े नौ बजे धूमनगंज पुलिस तोता को गाड़ी में लेकर निकली तो परिवार के लोग भी पीछे-पीछे लग गए. पुलिस टीम तोता को लेकर कैंट थाना पहुंची. कैंट थाने में क्राइम ब्रांच के कमरे में पूछताछ की गई. पूछताछ देर रात तक जारी रही. कैंट थाने में तोता की पत्नी और उसके अधिवक्ता मो. सलीम ने मीडिया को बताया कि पुलिस जुल्फिकार का एनकाउंटर करने की फिराक में है.

फैक्ट फाइल-

2016 में जुल्फिकार उर्फ तोता के खिलाफ गिरोहबंदी अधिनियम तहत मुकदमा दर्ज हुआ था

तोता के खिलाफ कत्ल, हत्या की कोशिश समेत कई मुकदमे दर्ज हैं

पिछले ढाई साल में वह चौथी बार गिरफ्तार किया गया है

2016 में बेनीगंज में घर पर फायरिंग तथा हत्या की कोशिश और फिर कालिंदीपुरम कॉलोनी में एक युवक को गाड़ी में अगवाकर पीटने के बाद सड़क पर फेंकने के मामले में वह जेल भेजा जा चुका है

तोता के पिता अंसार बाबा को अतीक का बेहद करीबी माना जाता था

अंसार का कत्ल कर दिया गया था