KANPUR: शहर में ब्याही पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेई की नातिन नंदिता को जैसे ही उनकी हालत नाजुक होने की खबर मिली, वह पति सुमित मिश्रा के साथ थर्सडे दोपहर को दिल्ली के लिए रवाना हो गईं. वहीं शाम को अटल जी की मौत की खबर मिलने के बाद नंदिता के ससुर राजेन्द्र मिश्रा बब्बू व अन्य लोग रात को दिल्ली के लिए रवाना हो गए. इससे पहले दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से बातचीत के दौरान पाण्डु नगर में रहने वाले राजेन्द्र ने बताया कि अटल जी की नातिन नंदिता की शादी बेटे सुमित के साथ 10 फरवरी 2003 को हुई थी. उस समय वह प्रधानमंत्री थे. वह शाम करीब 7 बजे नातिन की शादी में शामिल होने के लिए सर्वोदय नगर स्थित समारोह स्थल पर पहुंच गए थे. रात भर उन्हें रूकना था, लेकिन बहन कमला के एम्स में भर्ती होने की वजह से उन्हें रात में जाना पड़ा.

बच्चों से सुने गाने

पहली बार सरकार गिर जाने के बाद उन्होंने अपना जन्मदिन ग्वालियर में मनाया. इसमें केवल परिवारिक सदस्य ही शामिल हुए थे. उन्होंने दाल-बांटी बनवाई. इस दौरान उन्होंने बच्चों से गाने सुने और तालियां बजाकर उनकी खूब हौसला आफजाई की.

कोई संकोच नहीं

राजेन्द्र मिश्रा ने उनसे जुड़ी यादें साझा करते हुए बताया कि अटलजी बहुत ही महान थे. दिल्ली की सीएम साहिब सिंह आदि से परिचय के दौरान कभी मुझे कांग्रेस नेता बताने में संकोच नहीं किया.