- सीएसए में किसान मेले का इनॉग्रेशन करने पहुंचे कृषि शिक्षा मंत्री ने किसानों को आर्थिक हालत सुधारने के दिए मंत्र

kanpur@inext.co.in

KANPUR: किसानों की माली हालत गेहूं, दलहन व गन्ना की खेती से नहीं सुधरेगी. इसके लिए सब्जी और फलों की खेती पर फोकस करना होगा. यह बात सीएसए में किसान मेला का इनॉग्रेशन करते हुए प्रदेश के कृषि शिक्षा मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कही.

डेयरी की सेहत ठीक नही

कृषि शिक्षा मंत्री सीएसए के डेयरी व हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट के काम काज से खुश नहीं दिखे. उन्होंने साफ कहा कि वेटनरी डिपार्टमेंट को डेयरी में अच्छा काम करना चाहिए. साग-सब्जी व फलों की न्यू वैरायटी के लिए हार्टीकल्चर डिपार्टमेंट को भी अहम भूमिका निभानी होगी. किसानों को भी अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी का यूज करना चाहिए. कृषि यंत्रों पर 50 परसेंट तक छूट मिलेगी. किसान मार्केट की डिमांड को ध्यान में रखकर प्रोडक्शन करें.

यूरिया से बढ़ रहा कैंसर

कृषि मंत्री ने किसानों को उनके बेहतर योगदान के लिए सम्मानित भी किया. उन्होंने कहा कि यूरिया के अधिक प्रयोग से कैंसर रोगियों की संख्या बढ़ रही है. इसलिए जैविक खाद का प्रयोग करें. वीसी प्रो सुशील सोलोमन ने स्मृति चिन्ह भेंट कर चीफ गेस्ट को सम्मानित किया. इस अवसर पर यूएस गौतम, धूम सिंह, एचजी प्रकाश, डॉ नौशाद खान मौजूद रहे.

बाक्स

अगले महीने लगेगा कृषि कुंभ

शाही ने बताया कि लखनऊ में अगले महीने कृषि कुंभ का आयोजन किया जा रहा है जिसमें जापान व इजरायल के कृषि विशेषज्ञों के अलावा विभिन्न प्रदेशों से भी एक्सपर्ट शिरकत करेंगे. उन्होंने किसानों से मेले में शामिल होने की अपील की.

बॉक्स

फैकल्टी के लिए 246 पद स्वीकृत

सीएसए में फैकल्टी की कमी के सवाल पर मंत्री ने कहा कि 246 पद स्वीकृत किए गए हैं. लेकिन यूजीसी की गाइडलाइन की वजह से भर्ती प्रक्रिया नहीं शुरू हो पा रही है. यूजीसी से ग्रीन सिग्नल मिलते ही भर्ती शुरू हो जाएगी. दो दिन पहले कैंपस में महिला से लूट को लेकर सीएसए की सिक्योरिटी पर पूछा गया तो उनका कहना था कि स्टूडेंट्स को पूरी सिक्योरिटी दी जाएगी.