नर्इ दिल्ली (पीटीआर्इ)। आज दिल्ली में देश भर से किसान आैर मजदूरों ने वाम दलों के समर्थन में मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोला है। 'मजदूर किसान संघर्ष रैली'  में शामिल होने के लिए बीते कर्इ दिनों से किसान और कामगारों के दिल्ली पहुंचने का सिलसिला जारी था।

हजारों किसान-मजदूरों ने रामलीला मैदान से संसद तक किया मार्च,दिल्ली हुर्इ जाम

रामलीला मैदान से संसद तक मार्च का आयोजन
एेसे में आज सुबह दिल्ली के रामलीला मैदान से संसद तक मार्च का आयोजन किया गया। लाल टोपी लगा आैर लाल झंडे लेकर हजारों की संख्या में मौजूद किसानों व मजदूरों ने  केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अपनी मांगों को पूरी किए जाने की मांग की।
 
हजारों किसान-मजदूरों ने रामलीला मैदान से संसद तक किया मार्च,दिल्ली हुर्इ जाम

स्वामीनाथन समिति की सिफारिशें लगाने की मांग

इनकी प्रमुख मांगों में महंगार्इ से राहत दिलाने, न्यूनतम भत्ता 18000 रुपया प्रतिमाह तय किए जाने, किसानों की कर्जमाफी और फसलों की वाजिब कीमतें आदि शामिल है। इसके साथ ही स्वामीनाथन समिति की सिफारिशों को भी लागू करने की मांग भी उठार्इ गर्इ।

हजारों किसान-मजदूरों ने रामलीला मैदान से संसद तक किया मार्च,दिल्ली हुर्इ जाम

इस दौरान दिल्ली में लाेगों को जाम से जूझना पड़ा

वहीं ट्रेड यूनियनों और किसानों के संगठनों के नेताओं ने संसद स्ट्रीट पर रैली को संबोधित करते हुए एेलान किया कि अगर उनकी मांगे न पूरी हुर्इं तो आज की रैली की तरह ही आने वाले दिनों में और भी ऐसी ही रैलियां होंगी। इस दौरान दिल्ली में लाेगों को जाम से जूझना पड़ रहा है।

शाहजहांपुर में किसान कल्याण रैली में बोले पीएम, अब यूरिया के लिये किसानों को लाठी नहीं खानी पड़ती, हो रहे ये लाभ

35000 क‍िसान नंगे पैर पहुंचे मुंबई, जानें क्‍या होगा आज इस आंदोलन का सीन और इसके पीछे की स्‍टोरी

National News inextlive from India News Desk