-मेट्रो के अध्ययन के लिए 12 सदस्यीय दल जा रहा है दो देशों की यात्रा पर

- तीन विधायकों की पत्‍ि‌नयां भी जा रहीं साथ में

देहरादून, मेट्रो के अध्ययन के लिए यूके व जर्मनी जाने वाले 12 सदस्यीय दल सोमवार को दिल्ली पहुंचा. जहां उनका नाइट स्टे उत्तराखंड सदन में हुआ. मंगलवार को दल करीब ढाई बजे इंटरनेशनल एयरपोर्ट से लंदन के लिए रवाना हुआ. खास बात यह है कि महज तीन ऐसे विधायक शामिल हैं, जो अपनी पत्नियों को साथ में ले जा रहे हैं.

तीन विधायक पत्‍ि‌नयां भी

उत्तराखंड में मेट्रो के दूसरे विकल्पों एलआरटी, पीआरटी व रोपवे की संभावनाओं पर अध्ययन के लिए उत्तराखंड मेट्रो कार्पोरेशन के तहत 12 सदस्यीय दल यूके व जर्मनी के लिए रवाना हो रहा है, जिसमें 7 विधायक और 5 अधिकारी शामिल हैं. शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के नेतृत्व में विदेश जाने वाला दल मंडे को दिल्ली पहुंचा. कुमाऊं और गढ़वाल से विधायक दिल्ली में उत्तराखंड सदन पहुंचे. इनमें दो कांग्रेस के विधायक रानीखेत से करन माहरा और केदारनाथ से मनोज रावत भी शामिल हैं. करन माहरा और सुरेंद्र सिंह जीना पहले से ही दिल्ली में मौजूद थे. तीन विधायक शाम तक अपनी पत्‍ि‌नयों के साथ दिल्ली पहुंचे. पत्‍ि‌नयों के साथ विदेश दौरे पर जाने वाले विधायक पहले ही कह चुके हैं वे अपने खर्चे पर अपने पत्‍ि‌नयों को साथ में ले जा रहे हैं.

मेट्रो के ऑप्शन पर अध्ययन

दरअसल, दून-हरिद्वार-ऋषिकेश में मेट्रो संचालित करने पर सरकार ने उत्तराखंड मेट्रो कार्पोरेशन का गठन किया है, लेकिन मेट्रो संचालित करने के लिए हजारों करोड़ रुपए का खर्च अनुमानित किया जा रहा है. हालांकि अभी दिल्ली मेट्रो से डीपीआर फाइनल होनी बाकी है. खर्चीले प्रोजेक्ट के देखते हुए सरकार व मेट्रो कार्पोरेशन द्वारा मेट्रो के दूसरे विकल्पों एलआरटी, पीआरटी व रोप-वे पर भी विचार किया जा रहा है. इसी के तहत दो देशों के दौरे का प्रस्ताव तैयार किया गया है. केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने कहा कि सभी विधायक दिल्ली पहुंच चुके हैं और मंगलवार को करीब ढाई बजे दिल्ली से लंदन के लिए रवानगी होगी.

दिल्ली में हुई मीटिंग

यूके व जर्मनी के दौरे से पहले सोमवार को उत्तराखंड सदन में माननीयों व अधिकारियों के बीच एक बैठक आयेाजित हुई, जिसमें सभी माननीयों को राइटअप सौंपा गया.