-देहात में 14 मौतें हुई तो डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के बच्चा वार्ड में एक मौत

-

BAREILLY:

डिस्ट्रिक्ट में संक्रामक बुखार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. वेडनसडे को भी देहात क्षेत्र में 14 मौतों का आंकड़ा सामने आया. वहीं डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भी एक मासूम की इलाज के दौरान बच्चा वार्ड में मौत हो गई. देहात क्षेत्र में हुई मौत के बाद गांव स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कैंप कर रही हैं, लेकिन मौत के आंकड़ों का ग्राफ गिरता नजर नहीं आ रहा है. वहीं डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भी स्वास्थ्य मंत्री और वित्त मंत्री के निरीक्षण के बाद भी हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. हॉस्पिटल में लगातार मरीजों को संख्या में इजाफा हो रहा है.

क्योलडि़या में युवक ने दम तोड़ा

क्योलडि़या में बुखार से दलेलनगर निवासी पुरुषोत्तम 20 वर्षीय की ट्यूजडे रात मौत हो गई. तुलाराम ने बताया कि पुरुषोत्तम को पांच दिन पहले बुखार आया था, जिसके बाद दलेलनगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से दवाई ली, लेकिन आराम नहीं मिला. परिजनों ने नवाबगंज के निजी हॉस्पिटल के बाद शहर के निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराया था, जहां उसकी रात में मौत हो गई. इससे पहले क्योलडि़या में बुखार से एक मौत और हो चुकी है.

फतेहंगज में मासूम समेत दाे की मौत

फतेहगंज पश्चिमी के गांव पंथरा में 9 वर्षीय मासूम निशा की ट्यूजडे रात मौत हो गई. परिजन उसका इलाज निजी हॉस्पिटल में करा रहे थे. निशा के पिता लेखराज ने बताया कि घर में सात सदस्यों को बुखार आ रहा है. वहीं कैथोला बेनीराम गांव निवासी नन्हीं देवी की भी ट्यजडे रात एक बजे बुखार से मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि नन्हीं को कई दिन से बुखार आ रहा था, वह झोलाछाप से दवाई ले रही थी, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ, और रात को मौत हो गई.

बिथरी चैनपुर तीन की मौत

बिथरी चैनपुर के गांव मनपुरिया दलेल में ट्यूजडे रात तीन महिलाओं की मौत हो गई. जबकि, रजऊ परसपुर मे भी एक मौत बुखार से हो गई. मनपुरिया दलेल निवासी शिव देवी 50 वर्षीय पत्नी नारायण लाल, रहीसन 65 वर्षीय पत्नी छोटे, आशिफा 37 वर्षीय पत्नी नारुददीन को तीन सप्ताह भर से बुखार आ रहा था. ट्यूजडे रात को शिव देवी, रहीसन और अशिफा की शहर के निजी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं ट्यूजडे रात को रजऊ परसपुर निवासी बाबूराम 45 की भी बुखार से मौत हो गई. परिजनों ने बताया बाबूराम को एक आठ दिन से बुखार आ रहा था.

रिछा में तीन की गई जान

रिछा ब्लाक के दो गांव में वेडनसडे को तीन मौत हो गई. सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव बांसबोझ पहुंची. जहां ग्रामीणों ने बताया कि अमर सिंह(35) व सुनीता (30) और गांव ¨सगोथी में 10 वर्षीय नरगिस पुत्री इरफान की मौत हो गई. सीएचसी प्रभारी डॉ. आशुतोष पाराशरी ने टीम के साथ दोनों गांवों में दौरा कर जांच की, तो मौतों की वजह सामने आई. सीएचसी प्रभारी ने बताया कि बांसबोझ में सुनीता की मौत पीलिया से हुई है. वह काफी समय से बीमार थी.अमर सिंह की मौत लंबी बीमारी व शराब पीने की वजह से हुई है. जबकि ¨सगोथी की नरगिस की मौत सीटी स्केन में सिस्टी सरकोसिस (पेट का कीड़ा दिमाग में पहुंचना) की वजह से हुई. जांच के बाद स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है.

देवरनियां में युवती की मौत

देवरनिया क्षेत्र के गांव कमालपुर निवासी जसवंत सिंह की 18 वर्षीय बेटी सावित्री देवी की बुखार से मौत हो गई. इसके अलावा बिहारीपुर, गुनाह हटटू, सिगंतरा, भोजपुर, हिस्मा, मिलक ठिरिया आदि गांवों मे भी बुखार से कई लोग पीडि़त हैं.

भोजीपुरा में बुख्ार से मौत

भोजीपुरा के गांव सागलपुर निवासी मिठ्ठन लाल ने पुत्र नेतराम की बुखार से मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि उसे पांच दिन पहले बुखार आया था. वहीं सीएचसी चिकित्सा प्रभारी डॉ. संचित शर्मा का कहना है कि नेतराम की मौत बुखार से नहीं हुई है.किसी अन्य बीमारी से हुई है लेकिन परिजन बुखार से मौत होने का दावा कर रहे है.

आंवला में तीन की मौत

आंवला तहसील क्षेत्र में वेडनसडे को तीन लोगों की बुखार से मौत हो गयी, क्षेत्र में बुखार से मरने वालों का आंकडा 80 से ऊपर पहुंच गया है, ब्लॉक रामनगर के ग्राम तखा उर्फ सुखटिया में सत्यवीर की तीन साल की बेटी प्रिया व इसी गांव के 45 वर्षीय कृपाल की बुखार से मौत हो गई तथा अलीगंज क्षेत्र के ग्राम मण्डोरा में छोटी पत्नी विधाराम बुखार का शिकार हो गई मण्डोरा में एक दर्जन से ज्यादा लोग बुखार का शिकार हो चुके है. वहीं ग्रामीणों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम मलेरिया आदि के नमूने लेने के लिए पहुंची थी.