-ओपीडी में पहुंचने वाले सभी मरीजों में आधे मरीज बुखार के

-लैब में जांच के बाद हर चौथे मरीज में टायफाइड के लक्षण

bareilly@inext.co.in

BAREILLY : बिगड़ते बुखार के चलते हर चौथे मरीज में टायफाइड डिटेक्ट हो रहा है, जिससे मरीजों की मुश्किलें और भी बढ़ती जा रही हैं. क्योंकि बुखार स्वास्थ्य विभाग के काबू में भी नहीं आ रहा है. बुखार के मरीजों का हाल यह है कि रोजाना करीब 2500 की ओपीडी में आधा पेशेंट फीवर और वायरल फीवर के हैं. हालांकि, डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के फिजिशियन डॉक्टर्स का परसेप्शन सीएमओ के बयान और लखनऊ टीम की रिपोर्ट को खारिज कर रहा है. सीएमओ और रिपोर्ट में मलेरिया के प्रकोप की बात कही गई है, तो डॉक्टर्स का कहना है कि दस में किसी एक पेशेंट को मलेरिया डिटेक्ट हो रहा है.

फैक्ट एंड फिगर

2057-गांव के ग्राम प्रधानों को उपलब्ध कराई गई फॉगिंग की दवा

21-गांव में 1-7 सितम्बर तक मलेरिया डिपार्टमेंट ने की फॉगिंग

4- स्प्रे मशीन

7- फॉगिंग मशीन

1-सीएचसी पर चार स्प्रे मशीनें भी उपलब्ध कराई गई

25-सौ मरीज डेली आ रहे हॉस्पिटल

300-मरीजों से अधिक की हो रही डेली पैथोलॉजी में जांच

पैथोलॉजी में 300 जांचें डेली

डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में इस समय ख्ख् सौ से अधिक ओपीडी में मरीज आ रहे हैं. जिसमें क् हजार से अधिक मरीज सिर्फ बुखार के आ रहे हैं. बुखार के मरीजों के आने पर डॉक्टर्स उनकी सबसे पहले ब्लड आदि की जांच कराते हैं. ताकि बीमारी की सही स्थिति की जानकारी मिल सके. जांच में हर चौथा मरीज में टायफाइड के लक्षण मिल रहे हैं. वहीं अधिकांश में वायरल की पुष्टि हो रही है. पैथोलॉजी में इस समय 300 से अधिक जांच डेली हो रही हैं.

मलेरिया डिपार्टमेंट दौड़ा गांव

डिस्ट्रिक्ट में बारिश के बाद बुखार के मरीजों की बढ़ी संख्या को लेकर डिस्ट्रिक्ट मलेरिया डिपार्टमेंट भी अलर्ट हो गया है. मलेरिया डिपार्टमेंट 1 से 7 सितम्बर तक 21 गांव में फॉगिंग और लार्वा नाशक दवा का छिड़काव किया है. बुखार संक्रमक गांव में मलेरिया अफसर भी पहुंच रहे हैं और बुखार पीडि़तों का ब्लड सैम्पल लेकर जांच करा रहे हैं. इसके साथ ही मच्छरों से बचने और लार्वा नष्ट करने की जानकारी भी दे रहे हैं.

बुखार के मरीजों के लिए सीएचसी और पीएचसी पर भी दवाएं उपलब्ध है. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल का मलेरिया डिपार्टमेंट भी अलर्ट है. टीमें गांव जाकर बुखार के मरीजों की दवा और उनके सैंपल आदि लेकर जांच करा रही हैं. स्थिति नियंत्रण में हैं.

डॉ. वीके शुक्ला, सीएमओ बरेली

मलेरिया डिपार्टमेंट बुखार संक्रमक गांव में जाकर वहां पर फॉगिंग लार्वा नाशक दवा आदि का छिड़काव करा रहा है. इसके साथ अन्य गांवों में भी दवा छिड़काव कराने के लिए ग्राम प्रधानों की मदद ली गई है. टीम डेली गांव जाकर मरीजों के सैंपल लेकर जांच भी करा रही है.

डॉ. पीके जैन डिस्ट्रिक्ट मलेरिया ऑफिसर