इंग्लैंड ने एक बार खेला था फुटबॉल वर्ल्ड कप फाइनल
कानपुर। रूस में आयोजित 21वें फुटबॉल वर्ल्ड कप को शुरु हुए 10 दिन से ज्यादा हो गए। दुनिया की 32 टीमें विश्व विजेता बनने के लिए आपस में खूब जोर अजमाइश कर रही हैं, मगर इस बार का विजेता कौन होगा यह तो 15 जुलाई को पता चलेगा। वैसे आपको बता दें कि अभी तक कुल 20 फुटबॉल वर्ल्ड कप खेले गए हैं जिसमें कि सबसे ज्यादा 5 बार ब्राजील चैंपियन रही, वहीं एक टीम ऐसी है जिसे क्रिकेट का जन्मदाता कहा जाता है मगर इस देश ने एक बार फुटबॉल वर्ल्ड कप फाइनल खेला और उसी साल विजेता भी बन गई। जी हां, हम इंग्लैंड की बात कर रहे हैं, वो देश जिसने पहला ऑफिशियल क्रिकेट और फुटबॉल मैच भी खेला।

क्रिकेट का जन्मदाता है यह देश

पहला ऑफिशियल फुटबॉल मैच इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के बीच 1872 में खेला गया था। इसके ठीक पांच साल बाद इंग्लिश टीम ने पहला टेस्ट मैच भी खेला। यह मैच ऑस्ट्रेलिया और इग्लैंड के बीच 1877 में खेला गया था, हालांकि यह मैच इंग्लैंड जीत तो नहीं सका मगर इंग्लिश टीम को क्रिकेट का जन्मदाता जरूर कहा जाने लगा। इसके बाद साल दर साल इंग्लैंड की क्रिकेट और फुटबॉल दोनों टीमें अपने-अपने खेल का स्तर सुधारती गईं, आज वक्त ऐसा है कि यह इकलौता देश क्रिकेट वर्ल्ड कप के साथ-साथ फीफा वर्ल्ड कप में भी हिस्सा लेता है।

1966 में जीता फुटबॉल वर्ल्ड कप

फीफा की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक, फीफा वर्ल्ड कप में इंग्लैंड ने कुल 15 बार हिस्सा लिया है मगर फाइनल में सिर्फ एक बार 1966 में पहुंचे। यह इंग्लिश फुटबॉल टीम का पहला वर्ल्ड कप फाइनल था इससे पहले कभी उनकी टीम यहां तक नहीं पहुंची थी। खिताबी मुकाबले में इंग्लैंड का सामना वेस्ट जर्मनी से था। यह मैच लंदन के वेंबले स्टेडियम में आयोजित किया गया। करीब 90 हजार से ज्यादा दर्शकों के बीच इंग्लैंड ने जर्मनी को 4-2 से हरा दिया। फुटबॉल वर्ल्ड कप फाइनल में इंग्लैंड की यह पहली और आखिरी जीत थी।

कभी नहीं जीता क्रिकेट वर्ल्ड कप
आईसीसी की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक, इंग्लिश क्रिकेट टीम ने अभी तक हुए 11 क्रिकेट वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया मगर कभी विश्व विजेता नहीं बन पाए। ऐसा नहीं कि इंग्लैंड फाइनल तक नहीं पहुंचा, 1979, 1987 और 1992 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के पास चैंपियन बनने का अवसर आया मगर ऐन वक्त पर टीम के लचर प्रदर्शन ने इंग्लैंड को खिताब से वंचित कर दिया। खैर अगला वर्ल्ड कप एक साल बाद 2019 में इंग्लैंड और वेल्स में ही खेला जाएगा, ऐसे में इंग्लिश प्रशंसकों को उम्मीद होगी कि इस बार घर में इंग्लैंड की क्रिकेट टीम अपना जलवा जरूर दिखाएगी।

रोनाल्डो का गोल रोकने वाला ये ईरानी गोलकीपर कभी सोता था सड़क पर

दुनिया की इकलौती क्रिकेटर जिसने क्रिकेट और फुटबॉल दोनों वर्ल्ड कप खेले हैं

inextlive from News Desk