12 साल बाद फ्रांस पहुंचा फाइनल में
नई दिल्ली (जेएनएन)। फीफा विश्व कप 2018 के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में फ्रांस का सामना बेल्जियम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मैच में फ्रांस ने बेल्जियम को 1-0 से हराकर तीसरी बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई। इस मैच में फ्रांस की तरफ से एकमात्र गोल सैमुअल उम्टीटी ने किया। फाइनल मैच में फ्रांस का मुकाबला दूसरे सेमीफाइनल की विजेता टीम (इंग्लैंड बनाम क्रोएशिया) के साथ 15 जुलाई को होगा। फ्रांस की टीम अब 1998 के बाद दूसरी बार विश्व कप खिताब जीतने के लिए फाइनल में मैदान में उतरेगी। इससे पहले फ्रांस वर्ष 2006 में जर्मनी में खेले गए विश्व कप में फाइनल तक पहुंचा था लेकिन उसे इटली के हाथों पेनल्टी शूटआउट में हार का सामना करना पड़ा।

गोलरहित रहा पहला हाफ  
पहले हाफ का खेल शुरू होते ही दोनो टीमों ने अपनी तरफ से आक्रमण शुरू कर दिए। मैच के पांचवें मिनट में ही बेल्जियम गोल करने का एक मौका चूक गया। सही वक्त पर गेंद बेल्जियम के स्टार खिलाड़ी लुकाकू तक नहीं पहुंच सकी। ईडन हेजार्ड ने अपने कद के मुताबिक प्रदर्शन करते हुए 18वें मिनट में एक करारा शॉट लगाया लेकिन गेंद गोलपोस्ट की बार से टकराकर दूर चली गई और बेल्जियम को निराश होना पड़ा। पहले हाफ में बेल्जियम के खिलाड़ी ज्यादा आक्रामक नजर आए लेकिन फ्रांस भी लगातार काउंटर अटैक की कोशिश करती रही। पहले हाफ में रेड डेविल्स यानी बेल्जियम फ्रांस पर भारी नजर आई। पहले हाफ के आखिरी में फ्रांस को एक फ्री हिट मिला लेकिन एंटोनी ग्रीजमैन इस मौके का फायदा उठाने में नाकाम रहे। खेल का पहला हाफ गोल रहित रहा।  
फीफा वर्ल्ड कप 2018 के फाइनल में पहुंची फ्रांस
फ्रांस के उम्टीटी ने किया पहला गोल
दूसरे हाफ यानी खेल के 47वें मिनट में लुकाकू ने अपने हेडर से गोल करने की शानदार कोशिश की लेकिन गेंद गोल पोस्ट के उपर से निकल गई। इसके थोड़ी ही देर के बाद यानी खेल के 51वें मिनट में फ्रांस के सैमुअल उम्टीटी ने गोल कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। उम्टीटी ने अपने हेडर से गोल कर बेल्जियम को चौंका दिया। फ्रांस की तरफ से पहले गोल के बाद बेल्जियम की टीम ज्यादा आक्रामक हो गई लेकिन फ्रांस की डिफेंस के आगे उनकी नहीं चली। खेल के 63वें मिनट में हेजार्ड जबकि 71वें मिनट में बेल्जियम के ही ऑल्डरवाइल्ड को भी यलो कार्ड दिखाया गया।

फ्रांस का डिफेंस रहा अटूट

फ्रांस को 75वें मिनट में फ्री किक मिली लेकिन ग्रीजमैन असरदार साबित नहीं हुए। बेल्जियम की टीम का अटैक लगातार जारी लेकिन फ्रांस की डिफेंस को भेदना उसके लिए मुश्किल रहा। 87वें मिनट में बेल्जियम को फ्री किक मिला लेकिन वो उसका फायदा नहीं उठा पाए। 90 मिनट का खेल खत्म होने तक फ्रांस ने बेल्जियम पर 1-0 की बढ़त बनाए रखा। इसके बाद 6 मिनट का स्टॉपेज टाइम मिला। स्टॉपेज टाइम के दूसरे मिनट में एमबापे को यलो कार्ड दिखाया गया। वहीं खेल के 92वें मिनट में बेल्जियम की तरफ से शानदार कोशिश की गई लेकिन फ्रांस के गोलकीपर ने जबरदस्त तरीके से गेंद को रोका। इंजरी टाइम के दौरान बेल्जियम की तरफ से गोल करने की काफी कोशिश की गई लेकिन उन्हें इसमें सफलता नहीं मिली।

नहीं दिखा लुकाकू का जलवा
फ्रांस और बेल्जियम के मुकाबले में रोमेलू लुकाकू से बेल्जियम को सबसे ज्यादा उम्मीदें थी लेकिन वह पूरे मुकाबले के दौरान कहीं नजर नहीं आए। शुरुआती 15 मिनट के खेल में लुकाकू को गेंद पर पहला टच मिला। लुकाकू ने मौजूदा विश्व कप में चार गोल किए और अपनी टीम की ओर से सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी के रूप में विश्व कप से विदा हुए। वहीं बेल्जियम के कप्तान ईडन हैजार्ड ने लगातार गेंद को बचाने की कोशिश की लेकिन उनकी कोशिशों को फ्रांस के डिफेंडरों और गोलकीपर ने बेकार कर दिया।

इंग्लैंड का मैच देखने के लिए फैंस टाल रहे अपनी शादी, 12 साल बाद आया है ऐसा मौका

इंडियन क्रिकेटर्स ने यूं की जापानी फैंस की तारीफ, जबरदस्‍त हार के बाद भी कर रहे थे स्‍टेडियम की सफाई

Cricket News inextlive from Cricket News Desk