patna@inext.co.in

PATNA : बिहार राज्य महिला आयोग में बुधवार को उस वक्त अफरातफरी मच गई जब सुनवाई के दौरान दो महिलाएं आपस में उलझ गई. काफी प्रयास के बाद दोनों को अलग कर मामला शांत कराया गया. घटना उत्तर प्रदेश के आईआरएस के अधिकारी ज्ञानेंद्र त्रिपाठी की पत्नी अपर्णा त्रिपाठी और आरोपित डिप्टी कलेक्टर श्वेता मिश्रा से जुड़ा है. घटना के बाद महिला आयोग ने कोतवाली पुलिस को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है. ज्ञानेंद्र त्रिपाठी की पत्नी अपर्णा त्रिपाठी ने राज्य महिला आयोग में वाद दाखिल किया है. आरोप है कि बिहार में तैनात श्वेता मिश्रा ने उनके पति से मंदिर में दूसरी शादी की है. बुधवार को दोनों पक्ष को बुलाया गया था. काउंसलर सुनवाई कर ही रहे थे. इस बीच विवाद ऐसा हुआ कि अपर्णा और श्वेता के बीच मारपीट शुरू हो गई.

बवाल के बाद अफरातफरी

दोनों बीच बवाल के बाद महिला आयोग में अफरा तफरी मच गई. थोड़ी ही देर में कोतवाली पुलिस पहुंच गई और दोनों को शांत कराया गया. इस घटना में आयोग की सदस्य डॉ. निक्की हेम्ब्रम ने कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है.

देखते ही देखते बिगड़ गया माहौल

अर्पणा त्रिपाठी ने डिप्टी कलेक्टर श्वेता मिश्रा पर गंभीर आरोप लगाते हुए बिहार राज्य महिला आयोग में आवेदन दिया था. उनके पति ज्ञानेंद्र त्रिपाठी से तलाक का मामला न्यायालय में विचाराधीन है. आयोग की सदस्य डॉ. निक्की हेम्ब्रम के अनुसार, सुनवाई चल ही रही थी कि कार्यवाही में बाधा आ गई. महिला ने हंगामा शुरू कर दिया. महिला सिपाहियों के समझाने पर भी नहीं मानी और गाली-गलौज शुरु हो गई. अपर्णा ने श्वेता मिश्रा पर हमला बोल जबकि अपर्णा का कहना है कि पहले श्वेता ने पैर से वार किया है. दोनों में बाल पकड़कर जमीन पर पटका पटकी हुई.