विजिटर्स को झेलनी पड़ रही परेशानी

बाउंसर्स और विजिटर्स में हुई बहस

देहरादून. एफआरआई कैंपस में तेलुगू फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई है. इसके चलते यहां आने वाले विजिटर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. एफआरआई कैंपस में कई जगह विजिटर्स की एंट्री रोकी गई है, उन्हें कैंपस में फोटो्रग्राफी करने से भी रोका जा रहा है. सैटरडे को आगरा से आए विजिटर्स के साथ फिल्म प्रोडक्शन टीम के बाउंसर्स की कहा-सुनी हुई. फिल्म लाइन प्रोडयूसर्स के हस्तक्षेप के बाद ही मामला सुलझा.

--

विजिटर्स के लिए दिक्कत

एफआरआई परिसर में पहले इंटरनेशनल योगा डे के लिए विजिटर्स की एंट्री पर रोक लगाई गई, इसके तुरंत बाद यहां तेलुगू फिल्म की शूटिंग के चलते यहां विजिटर्स को खुलकर घूमने नहीं दिया जा रहा है. यहां तैनात बाउंसर्स विजिटर्स को इधर-उधर जाने से रोक रहे हैं. कई जगह फोटो खींचने से भी विजिटर्स को रोका जा रहा है, जिसके चलते विजिटर्स और बाउंसर्स के बीच कहा-सुनी हो रही है.

बन रही है कैंटीन

स्टूटेंड ऑफ द इयर फिल्म की शूटिंग के बाद एफआरआई कैंपस को कॉलेज के तौर पर बेहद पसंद किया जा रहा है. यही वजह है कि अब तेलुगू फिल्म में भी कैंपस को कॉलेज का रूप ही दिया गया है. यहां कॉलेज कैंटीन भी शूट के लिए तैयार की जा रही है. फिल्म में महेश बाबू लीड रोल में हैं. पूजा हेगड़े इसमें हीरोइन हैं. ओमशी पेडपली फिल्म के डाइरेक्टर हैं.

--

फिल्म की शूटिंग अपनी जगह है लेकिन विजिटर्स भी तो यहां पैसे खर्च करके आ रहे हैं. ऐसे में शूटिंग निर्माताओं से बात की गई है कि बाउंसर्स को समझाएं कि विजिटर्स से प्यार से बात करें.

- बीपी खंडूरी, सिक्योरिटी ऑफिसर, एफआरआई

--

--

दिल्ली से पहुंचे कैंपस देखने

दिल्ली से पहुंचे किरन थपलियाल, राजेश्वरी, माही नौडियाल ने कहा कि एफआरआई के बारे में काफी सुना था तो यहां देखने चले आए. पीएम मोदी के प्रोग्राम की वजह से इस समय यहां आए लेकिन अब भी यहां पूरा कैंपस नहीं घूमने दिया गया. कई जगहों पर बाउंसर्स ने रोका और तो और फोटो भी नहीं क्लिक करने दी गई.