इंदौर में बहुत दिन बाद वीरेन्द्र सहवाग अपनी फॉर्म में थे तो मेरठ पुलिस भी आज अपनी बेहतरीन फॉर्म में नजर आई. जी हां, गुरुवार को पुलिस ने एक नहीं बल्कि चार-चार खुलासे कर अपना भी चौका जड़ दिया. अफगानी स्टूडेंट हमीदुल्लाह उर्फ हामिद हत्याकांड, बिजली बंबा बाईपास पर बोलेरो में हुआ डबल मर्डर, खरखौदा में हुई लूट और टीपीनगर में हुई एक चोरी की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया.

वारदात नंबर - 1
बयान के बेस पर रोबिन
और करन केस से बाहर

मेरठ. आखिरकार पुलिस ने गुरुवार को अफगानी स्टूडेंट हामिद के कत्ल से परदा उठा दिया. कोई सुबूत न मिलने की वजह से पुलिस ने इस हाई प्रोफाइल हत्याकांड में रोबिन और करन को क्लीन चिट देने की भी तैयारी कर ली है. इनकी बहनों का भी कत्ल के केस से कोई लिंक नहीं जोड़ा गया है. इंचौली थाने में पहुंचकर रोबिन और करन ने इस बारे में पुलिस को अपने बयान भी दे दिए हैं. पुलिस ने दोनों को केस में गवाह बना लिया है.
नहीं थे मौके पर
पुलिस की तफ्तीश में मोनिका और हामिद के संबंधों की बात और उसके भाइयों से हामिद की अदावत तो साबित होती है, लेकिन ऐसा कोई सुबूत पुलिस के पास नहीं है, जिससे ये साबित हो सके कि करन और रोबिन भी वारदात के वक्त मौके पर मौजूद थे. इसी बिनाह पर पुलिस इन्हें क्लीन चिट देने की तैयारी में है.
क्या हुआ उस शाम
डीआईजी प्रेम प्रकाश के मुताबिक वारदात वाले दिन दौराला के वलीदपुर गांव के मनीष अहलावत और फहीम उर्फ शईम ने पहले हामिद से बात कर उसे बहाने से बाहर बुलाया. इसके बाद दोनों अपने दोस्तों के साथ सफारी में गंगानगर पहुंचे. वहां पहुंचते ही फहीम ने हामिद से गाली गलौज करते हुए मिनी बंदूक तान दी. नासिर के बंदूक की नाल पकडऩे पर ट्रिगर दबा दिया. एक गोली हामिद को लगी और दूसरी ने नासिर को जख्मी कर दिया. इसी बीच एक और तीसरे युवक ने पिस्टल से गोलियां चलाई, लेकिन वो निसार के पैर को छूने के अलावा किसी ओर का नुकसान नहीं कर सकीं.
पहले दोस्त थे
पहले मनीष अहलावत, फहीम, मकतूल हामिद और घायल नासिर दोस्त हुआ करते थे. इसी बीच हामिद ने जब फहीम की गर्ल फ्रेंड को इस बात की जानकारी दी कि उसका निकाह हो चुका है तो उसने फहीम से बात करना बंद कर दिया. ये बात फहीम को इतनी नागवार गुजरी की वो हामिद से रंजिश रखने लगा.
ब्लैकमेल कर रहा था
रानी ने सगाई के बाद से नासिर से बात करना बंद किया तो हामिद और नासिर ने मोनिका को भी परेशान करना शुरू कर दिया. मोनिका को रुसवा करने की नीयत से उसने टैटू गुदवा लिए. कुछ ऐसे कागजात सार्वजनिक करने की धमकी दे दी जिसके बारे में सोचकर मोनिका का दिल कांप उठा. फहीम को इस बात की जानकारी मिली तो उसने रोबिन और करन को हामिद और नासिर के बारे में सब कुछ बता दिया.
एक दिन पहले होती वारदात
बकौल पुलिस हामिद के कत्ल की प्लानिंग एक दिन पहले थी. वारदात को अंजाम देने के लिए फहीम ने हामिद को 18 बार कॉल की, लेकिन पार्टी में होने की वजह से उसने कॉल रिसीव नहीं की. उस दिन प्लानिंग हामिद का कत्ल करके लाश को कहीं ठिकाने लगाने का था.
वर्जन-
बहन की वजह से रोबिन और करन की हामिद से कई बार बहस हुई थी. दोनों ने उसे धमकाया भी था, लेकिन कत्ल के वक्त दोनों मौके पर नहीं थे. लड़कियों का संबंध तो था, लेकिन कत्ल में उनका शामिल होना नहीं पाया गया है. कत्ल बीडीसी सदस्य मनीष अहलावत और फहीम ने किया है. अभी जांच चल रही है.
प्रेम प्रकश, डीआईजी


वारदात - 2
पुलिस के कब्जे में काका

मेरठ. बिजली बंबा बाईपास पर बुलेरो में कत्ल किए गए सपा नेता कविन्द्र और ड्राइवर विजय के कातिल अमरदीप उर्फ काका को पुलिस ने पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया. डीआईजी प्रेम प्रकाश ने बताया कि दोनों का कत्ल आर्मी के भगौड़े नानौता सहारनपुर के भारी गांव निवासी अमरदीप उर्फ काका और उसके दोस्त नानौता के ब्लॉक प्रमुख के यहां काम करने वाले हरियाणा के अमित उर्फ दिनेश पहलवान ने की थी.
एक लाख का उधार
पांच भाई बहनों में सबसे छोटे अमरदीप ने 12 वीं के बाद सेना ज्वाइन की. लेकिन घर की हालत खराब होने के चलते वह नौकरी छोडक़र आ गया. इसी बीच उसने गांव की एक लडक़ी के साथ छेड़खानी की तो उसे जेल जाना पड़ा. उस मामले में एक साल की सजा भी सुनाई जा चुकी है. जिसका प्रकरण अब हाईकोर्ट में विचाराधीन है. एक साल पहले अमरदीप ने गांव के ही कविन्द्र से एक लाख रुपये एक साल में देने की बात कहकर उधार ले लिए. लेकिन कविन्द्र ने एक  साल से पहले ही उधार चुकता करने को कहा. उसने पैसों के एवज में नौकरी करने को कहा तो अमरदीप उससे रंजिश रखने लगा. तीन महीने पहले अमरदीप ने ये बात दोस्त पहलवान को बताई तो दोनों ने हत्या की प्लानिंग कर ली.
कर दी हत्या
एसपी सिटी बीपी अशोक ने बताया कि 27 नवंबर को चारों लोग नोएडा के लिए निकले. पहले वो खतौली में चीतल रेस्टोरेंट पर कई घंटे रुके. वहां से मेरठ ज्योतिषी के घर आए. इसी बीच दोनों कातिल पिछली सीट पर बैठ गए. कविन्द्र ड्राइवर के बगल में बैठ गया. नोएडा जाने के वक्त शाम करीब साढ़े सात बजे दोनों ने कविन्द्र से फ्रेश होने की बात कहकर गाड़ी बिजली बंबा बाईपास पर मुड़वा ली. सुनसान जगह पर पहुंचते ही पहले कविन्द्र और फिर ड्राइवर को पिस्टल सटाकर मार डाला. एसओजी प्रभारी राजेश वर्मा ने बताया कि फरार दिनेश पहलवान को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

वारदात - 3
कोई आपके घर की
भी रेकी कर रहा है

मेरठ. जो लोग मकान बंद करके चले जाते हैं, उन लोगों के लिए सबक है. फेरी वालों पर हमेशा नजर रखें. मकान बंद है तो समझो चोरी हो सकती है, क्योंकि कुछ बदमाश फेरी के साथ हेरा-फेरी भी करते हैं. दिन में फेरी और रात में मकानों में चोरी करते हैं. ऐसे ही दो शातिर चोरों को टीपी नगर पुलिस ने दबोचा. इनसे कई वारदातों का खुलासा हुआ. चोरी गया माल भी बरामद कर लिया गया.
ये हैं वो शातिर
गिरफ्तार चोर मलियाना के रहने वाले कुलदीप और सतेंद्र हैं. पूछताछ के दौरान इन दोनों की निशानदेही पर कुलदीप के घर से चोरी का अन्य सामान भी बरामद कर लिया गया. जिसमें पंद्रह हजार रुपए नकद, दो चाकू, चोरी के जेवरात, एक सोने की चेन, पाजेब, कुंडल और ओम लिखा लॉकेट बरामद किया गया है. ये लोग फेरी का काम करते थे. जहां भी मकान बंद देखते वहां रात को पहुंच जाते थे. इन दोनों ने गुप्ता कालोनी, गगन विहार, राजीव विहार और नौचंदी थाना क्षेत्र में चोरियां कबूल की हैं.

वारदात - 4
वाहन लुटेरा गिरोह के
तीन मेंबर्स गिरफ्तार 
मेरठ.
खरखौदा इलाके से पुलिस ने अंतरजनपदीय बाइक लुटेरों के गिरोह के तीन मेंबर्स को गिरफ्तार किया है. इनके पास से लूटी गई कई बाइक और मोबाइल बरामद हुए हैं. ये लुटेरे सुनसान सडक़ पर लूट की वारदात को अंजाम देते थे और निकल जाते थे. लूटी गई बाइक को ये पांच हजार रुपये में ठिकाने लगा देते थे.
ये हैं वो लुटेरे
लुटेरों में रसूलपुर धोलड़ी जानी का दीनमोहम्मद उर्फ दीनू, जाकिर कालोनी लिसाड़ी गेट का शान मोहम्मद उर्फ शानू और ऊंचा सद्दीक नगर का अदनान हैं. इनके पास से सात बाइक और पांच मोबाइल बरामद हुए हैं.