आगरा. रेनबो हॉस्पिटल में दयालबाग निवासी तेल कारोबारी की उपचार के दौरान मौत हो गई. परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाया. मामले में बेटे की तहरीर पर चिकित्सकों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है.

बेटे ने दी मामले में तहरीर

गंगा एन्क्लेव, दयालबाग निवासी लकी उपाध्याय ने पिता अनिल उपाध्याय को रेनबो हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. शनिवार की शाम पांच बजे उनकी हालत बिगड़ी थी. वहां पर नसों को ब्लॉकेज बताकर स्टेंट डाल दिया. सवा लाख रुपये जमा करा लिए. आरोप है कि चिकित्सक के उपचार न कर असिस्टेंट से उपचार कराया. चिकित्सक ने विश्वास दिलाया था कि स्टेंट डालने में कोई खतरा नहीं है. रात में साढ़े नौ बजे कारोबारी की मौत की सूचना परिजनों को मिली, जबकि थोड़ी देर पहले ही उन्होंने कारोबारी से बात की थी. बेटे लकी उपाध्याय ने थाना सिकंदरा में रेनबो हॉस्पिटल के डॉ. विनीत गर्ग, डॉ. जितेंद्र श्रीवास्तव, सिस्टर शिवानी, गजेंद्र तिवारी, मदन, आशीष के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.