अभी तक परिजनों ने पुलिस को नहीं दी है तहरीर

शिकायत के लिए परिवार आपस में तैयार कर रहा है रूपरेखा

आगरा. डॉ. मोनिका सुसाइड केस उलझता जा रहा है. मौत की वजह पर बिसरा प्रजर्व होने से परदा डल गया है. अब जब तक बिसरा रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता. परिजनों ने पुलिस को इस मामले में अभी कोई तहरीर नहीं दी है हालांकि परिजन इस मामले में पुलिस से बात करने की बोल रहे थे. सीओ कोतवाली का कहना था परिजनों ने अभी सम्पर्क नहीं किया है.

बिसरा रिपोर्ट को लेकर परेशान

पोस्टमार्टम के बाद डॉ. मोनिका की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका. पुलिस ने बिसरा सुरक्षित कर लिया. बिसरा की रिपोर्ट आने में लम्बा समय लगता है. ऐसे में परिजन संशय में आ गए हैं. चूंकि बेटी की मौत का कारण वह भी जानना चाहते हैं. परिवार इस बात का दावा कर रहा है कि बेटी सुसाइड नहीं कर सकती. परिवार मौत को लेकर बुरी तरह उलझा हुआ है.

टाइम को लेकर परेशान परिवार

पुलिस के मुताबिक बिसरा रिपोर्ट आने में कम से कम तीन महीने का समय लगता है. इतने लम्बे समय के बाद मौत की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी. परिवार इस बात को लेकर परेशान है. डॉ. मोनिका के पिता का कहना था कि वह इस बारे में पुलिस से बात करेंगे. अभी उन्होने मामले में तहरीर नहीं दी है. लेकिन वह जल्दी ही तहरीर देंगे. परिवार आपस में मामले की रूपरेखा तैयार कर रहा है.

पुलिस को भी है तहरीर का इंतजार

सीओ कोतवाली अब्दुल कादिर के मुताबिक पुलिस ने परिवार से कई बार पूछा है लेकिन अभी तक कोई तहरीर नहीं दी गई है. यदि परिवार तहरीर देता है तो तुरंत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी. बिसरा रिपोर्ट आने में समय लगेगा. बिसरा फोरेंसिक लैब भेजा गया है.

9 चीजें भेजी गई जांच को

पुलिस ने बिसरा में नो चीजें जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजी हैं. लैब में इस बात की जांच की जाएगी कि कितनी मात्रा में डोज ली गई है. टीम क्वांटीटी की जांच करेगी. गुरुवार को शव को दाह संस्कार के लिए शमशान घाट ले जाया गया. बेटे हरमन ने पिता और मामा के साथ दाग दिया. इस दौरान परिजनों के साथ गए लोगों की आंख भी नम थी.