-मंजू वर्मा के चेरिया बरियारपुर स्थित आवास से मिले थे 50 जिंदा कारतूस

patna@inext.co.in

PATNA: मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न कांड से नाम जुड़ने के बाद पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा की मुश्किल बढ़ती जा रही है. मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अब लगातार कार्रवाई की तलवार लटकर रही है. सीबीआई ने मंजू वर्मा और उनके पति चंदेश्वर वर्मा पर शिकंजा कसा है. दोनों के खिलाफ सीबीआइ ने बरियारपुर थाना में आ‌र्म्स एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया है.

छापेमारी से खुली थी पोल

मुजफ्फरपुर कांड उजागर होने के बाद मुश्किलों के दौर से गुजर रही पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा पर सीबीआई की कार्रवाई भारी पड़ेगी. शुक्रवार को सीबीआइ ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपित ब्रजेश ठाकुर और मंजू वर्मा से संबंधित कुल एक दर्जन ठिकानों पर एकसाथ छापेमारी की थी. इस छापेमारी में मंजू वर्मा व चंदेश्वर वर्मा के चेरिया बरियारपुर स्थित आवास से 50 जिंदा कारतूस बरामद किए गए थे.

कारतूस का नहीं दे पाए थे हिसाब

मंजू वर्मा और उनके पति घर से बरामद बड़े पैमाने पर कारतूस का हिसाब नहीं दे पाए. यह कहां से आया और किसने उन्हें दिया? यह नहीं बता पाए. कारतूस घर में रखने का उद्देश्य क्या था यह भ नहीं बताया. वह यह भी नहीं बता पाए कि ये कारतूस उनके घर में आए कैसे. इसके बाद सीबीआइ के डीएसपी ने बरियारपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी है. बरियारपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि दर्ज कराई गई प्राथमिकी की जांच शुरू कर दी गई है. जांच बहुत जल्द पूरी कर ली जाएगी.