सीएम योगी के पायलट प्रोजेक्ट में

शामिल है सरधना का फायर स्टेशन

हस्तिनापुर में भी मिल चुकी है फायर स्टेशन के लिए जमीन

Meerut . सरधना व हस्तिनापुर में जल्द ही नए फायर स्टेशन बनाए जाएंगे. इसके लिए मुख्यमंत्री योगी ने हरी झंडी दिखा दी है, जबकि मेरठ में अभी चार ही फायर स्टेशन हैं. बावजूद इसके, चार फायर स्टेशनों की और डिमांड की जा रही है.

बढ़ रहीं घटनाएं

शहर में दिन पर दिन लगातार आग की घटनाएं बढ़ रही है. आग बुझाने वाले अधिकारियों के साथ- साथ विभाग के पास फायर स्टेशनों की भी भारी कमी चल रही है. फायर स्टेशन की कमी के कारण आग लगने के बाद गाड़ी भी काफी देर में पहुंचती है. जिससे लाखों का नुकसान हो चुका होता है. अब मुख्यमंत्री योगी ने मेरठ के लोगों की डिमांड पर सरधना व हस्तिनापुर में फायर स्टेशन खोलने की घोषणा की है.

23 साल से डिमांड

सरधना में सन् 1995 व सन् 2001 में हस्तिनापुर में फायर स्टेशनों की डिमांड की जा रही थी. अब जाकर इन स्थानों पर फायर स्टेशन बनाने की मांग पूरी हुई है.

यह होगा फायदा

सरधना व हस्तिनापुर क्षेत्र में फायर स्टेशन बनने से वहां के लोगों को काफी फायदा होगा. आग लगने की सूचना पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी कुछ ही मिनटों में वहां पर पहुंचेगी. अब आग लगने पर गाड़ी मेरठ के फायर स्टेशनों से जाती है. जिससे पहुंचने पर काफी समय लजाता है.

सरधना व हस्तिनापुर में फायर स्टेशन

बनाने के लिए शासन से हरी झंडी मिल चुकी है. शीघ्र ही वहां पर फायर स्टेशन खोल दिया जाएगा.

अजय शर्मा, चीफ फायर ऑफिसर