वर्चस्व की जंग में भिड़े छात्रों के दो गुट, फायरिंग और मारपीट

पीडि़त की तहरीर पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

Meerut. छात्रसंघ चुनाव की सुगबुगाहट होते ही छात्र संगठनों में वर्चस्व की जंग छिड़ गई है. शनिवार को दो छात्र गुटों में जमकर हुए संघर्ष में फायरिंग और मारपीट हुई. पीडि़त पक्ष की तहरीर पर दो छात्र नेताओं के खिलाफ थाना लालकुर्ती पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस आरोपी छात्र नेताओं की धरपकड़ के लिए दबिश दे रही है.

जान से मारने की धमकी

घटनाक्रम के मुताबिक शनिवार को मेरठ कॉलेज में आम दिनों की तरह छात्रों की आवाजाही हो रही थी. इसी बीच मंगल पांडे हॉल के समीप ताबड़तोड़ फायरिंग से परिसर में सनसनी फैल गई. अफरा-तफरी मच गई और छात्रों ने परिसर के बाहर दौड़ लगा दी. एलएलबी थर्ड ईयर के छात्र दीपक कुमार ने पुलिस को सौंपी तहरीर में घटनाक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि वह छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद का दावेदार है. वह रोजाना की तरह छात्रों के बीच चुनाव प्रचार कर रहा था. इसी बीच विजित तालियान और मयंक ने चुनाव प्रचार न करने और चुनाव में न खड़ा होने को लेकर उसे धमकी दी और कहा कि यदि चुनाव में खड़ा हुआ तो जान से मार देंगे.

कर दी फायरिंग

दीपक का आरोप है कि कहासुनी बढ़ी तो मयंक और विजित ने उस पर फायरिंग कर दी, जिससे दीपक बाल-बाल बच गया. थाना लालकुर्ती में पीडि़त की तहरीर पर मयंक और विजित के खिलाफ हत्या के प्रयास में मुकदमा दर्ज किया गया है तो वहीं इंस्पेक्टर थाना लालकुर्ती मो. असलम का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही है. पुलिस ने कॉलेज के सीसीटीवी भी खंगाले हैं, सीसीटीवी में आरोपी छात्रों की फुटेज नजर तो आ रही है, किंतु फायरिंग की पुष्टि नहीं हो पा रही है.

प्रॉक्टर ने किया दौरा

फायरिंग की घटना के बाद कॉलेज की चीफ प्राक्टर अलका चौधरी ने लालकुर्ती थाने में रिपोर्ट दर्ज करके, छात्र पर कार्यवाही करने के लिए कहा. वहीं फायरिंग के बाद कॉलेज की अनुशासन सीमित द्वारा कालेज में चेकिंग अभियान भी चलाया गया. जिसमें कुछ बाहरी छात्र-छात्राएं परिसर में बैठे मिले, जिन्हें चेतावनी देकर छोड़ दिया गया.