क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: राजधानी रांची में अपराधी बेखौफ हैं. इसका ताजा नमूना रांची के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र में देखने को मिला. जहां वार्ड नंबर 37 के पार्षद आनंद मूर्ति उर्फ पप्पू सिंह को निशाना बनाने के लिए एक अपराधी आधे घंटे तक उनके घर के बाहर हथियार लिए घूमता रहा. इस दौरान उसने दहशत फैलाने के लिए फायरिंग भी की.

खौफ में पार्षद का परिवार

जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के सेक्टर दो में रहने वाले पार्षद पप्पू सिंह का पूरा परिवार एक अपराधी की वजह से दहशत में है. मंगलवार की रात 11 बजे हाथ में पिस्टल लिए एक अपराधी पार्षद के घर के बाहर लगभग आधे घंटे तक उनके आने का इंतजार करता रहा. जब पार्षद घर नहीं लौटे तब गुस्से में आकर अपराधी ने एक फायरिंग की और वहां से चला गया.

भतीजे ने बताई सारी बातें

मंगलवार की रात पप्पू सिंह देर रात अपने घर लौटने वाले थे, लेकिन देर होने की वजह से वे उस दिन घर नहीं लौटे. इससे यह तय माना जा रहा है कि अपराधी कई दिनों से उनकी रेकी कर रहा था. अपराधी इस फिराक में था कि जब वह घर लौटे तब उनको निशाना बनाए. बुधवार की सुबह जब पार्षद पप्पू सिंह अपने घर लौटे तब उनके भतीजे ने बताया कि घर के बाहर किसी ने फायरिंग की थी.

सीसीटीवी में दिखा अपराधी

फायरिंग की सूचना पर पप्पू सिंह ने अपने घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को चेक किया, जिसमें हेलमेट पहना एक अपराधी हाथ में पिस्टल लिए हुए उनके घर के चारों तरफ घूमता दिखाई दे रहा है. सबसे हैरानी वाली बात तो यह है कि इसकी सूचना पप्पू सिंह ने जगन्नाथपुर थाना प्रभारी को तुरंत दी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

मेरी किसी से कोई दुश्मनी नहीं

इस मामले को लेकर पप्पू सिंह का पूरा परिवार दहशत में है. पप्पू सिंह के अनुसार उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है. चुनाव के दौरान भी उनका किसी से कोई झगड़ा नहीं हुआ था. ऐसे में उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कौन उनकी जान लेना चाहता है.

पुलिस जांच में जुटी

मामले की जानकारी जब पप्पू सिंह ने रांची के वरीय पुलिस अधिकारियों को दी तब जगन्नाथपुर थाना की टीम उनके घर पहुंची और मामले की तफ्तीश में जुटी. जगन्नाथपुर थाना प्रभारी अनूप कर्मकार ने बताया कि जिस दिन उन्हें यह सूचना दी गई. वह क्राइम मीटिंग के लिए गए हुए थे. थाना प्रभारी के अनुसार सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अपराधी की पहचान की जा रही है और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा.