-जोश के साथ पोलिंग बूथों पर वोट करने पहुंचे युवा

:

देश की आगामी सरकार को चुनने के लिए यूथ में गजब का उत्साह देखने को मिला। सुबह से ही यूथ वोटर्स ने पोलिंग बूथ पर लाइन लगाकर मतदान करना शुरू किया जो देर शाम तक चलता रहा। हालांकि इस दौरान कई मतदाताओं को लिस्ट में नाम न होने और वोटर कार्ड न होने के चलते प्रॉब्लम फेस करनी पड़ी।

--------------------

फ‌र्स्ट टाइम वोटर

- फ‌र्स्ट वोट था तो सुबह जल्दी ही मतदान केन्द्र पर वोट करने के लिए पहुंच गई। लेकिन मौके पर जाकर पता चला कि लिस्ट में तो नाम ही नहीं है। बीएलओ को भी सूचना दी लेकिन वोट डालने को नही मिला।

रिया मेहरोत्रा

मेरा फ‌र्स्ट वोट था, काफी उत्साहित थी। मैंने तो देश के विकास और यूथ की समस्याओं को ध्यान देने वाली सरकार चुनने के लिए वोट किया है.सभी को वोट की कीमत समझकर वोट करना चाहिए।

खुशी, सिंह

-मैं ग्रेजुएशन कर रहा हूं, सुबह को ही मतदान केन्द्र पर पहला वोट मैंने ही किया। काफी अच्छा लगा। सभी को वोट जरूरी करना चाहिए। क्योकि एक वोट ही देश को दिशा देने के लिए काफी होता हैँ।

जय अग्रवाल

-फ‌र्स्ट वोट डालने के लिए आई हूं, काफी अच्छी लगा। यूथ वोटर्स को मतदान के लिए आगे आना चाहिए। ताकि यूथ की चुनी हुई सरकार यूथ की समस्याओं को दूर कर सके।

सुधा रानी

मैंने तो फ‌र्स्ट वोट यही सोचकर किया है कि मैंने जो सरकार को वोट किया है वह बनी तो रोजगार मुहैया कराएगी। यूथ को वोट करने के लिए आगे आना चाहिए।

नीलम

यूथ वोटर्स जब तक वोट के लिए आगे नहीं आएगा तब तक वह अपनी समस्या किसी से कहने का हक नहीं रखता है। मेरा फ‌र्स्ट वोट था। वोट कर काफी अच्छा लगा कि मुझे भी सरकार चुनने का मौका मिला है।

गोपिका अग्रवाल

आज पहली बार वोट करके अच्छा लगा। यूथ पर ही देश के विकास की जिम्मेदार है और यूथ ही आज सबसे ज्यादा परेशान है। इसलिए यूथ को सोच समझ कर अपने वोट से ऐसी सरकार चुननी चाहिए जो यूथ के विकास के बारे में सोच सके।

समरीन

मतदाताओं में आज भी जागरूकता की कमी है उन्हें लगता है कि हमारे एक वोट से कुछ होने वाला नहीं है। इससे जाहिर होता है कि उन्हें अपने वोट की कीमत नहीं पता है। इसके लिए सबसे पहले उन्हें अपने वोट की कीमत पता होनी चाहिए।

निधि ठाकुर

यूथ तो अब काफी मतदान के प्रति जागरूक हो गया है। इस बार फ‌र्स्ट टाइम वोट किया लेकिन मैं समय से पहले वोट देने आई हूं। क्योंकि मैं अपने वोट की कीमत को समझती हूं। हमारा एक वोट देश को दिशा दे सकता है।

रिशांत मिश्रा

कोई भी सरकार अपना प्रत्याशी को उतारने से पहले अपना एजेंडा पेश करती है। हम यूथ को चाहिए कि जो प्रत्याशी को वोर्ट दे रहे हैं उसका एजेंडा क्या है। मैंने तो पहली बार वोट किया है लेकिन एजेंडा देखकर ही किया है।

निशा

यूथ को हमेशा चुनने वाली सरकार का एजेंडा जरूरी देखना चाहिए .लेकिन वोट जरूरी करना चाहिए। कई बार होता है कि हम एजेडे को देखकर ही मतदान कर देते हैं। मैंरा फ‌र्स्ट वोट था लेकिन मैंने तो एजेंडा देखकर ही मतदान किया।

रश्मि

वोटर्स का एक बार पांच वर्ष में मौका मिलता है वोट करने का। इसके बाद भी वोटर घरों से नहीं निकलते हैं। वोटर को वोट करने के लिए आगे आना चाहिए। क्योंकि जब वोटर वोट नहीं करेगा तो वह सरकार से कैसे अपनी प्राथमिकता की उम्मीद रख सकता है।

पल्लवी

फ‌र्स्ट वोट था वोट किया तो अच्छा लगा। मुझे लगा कि आज मुझे मौका मिला है। यही सोचकर हम सभी को वोट करना चाहिए। क्योंकि जो वोटर्स है उन्हें भी यही सोचकर वोट करना चाहिए कि मौका न गवाएं।

आशा सिसोदिया

फ‌र्स्ट टाइम वोट का मौका मिला तो छोड़ा नहीं समय से मतदान करने के लिए पहुंची। मतदान केन्द्र पर भीड़ थी फिर भी लाइन में लगकर मतदान किया लेकिन कभी यह नहीं सोचा कि मतदान न करें। मतदान करना चाहिए।

वरिष्ठा

फ‌र्स्ट वोटर में तो वोट डालने का जोश दिख रहा लेकिन यूथ के साथ दूसरे वोटर्स की भीड़ नहीं दिख रही। इससे लगता है कि लोग मतदान के प्रति सजग नहीं हैं। लेकिन बाद में जब सरकार बन जाती है तो उम्मीदें रखते हैं।

नमन

जब तक हम अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए आगे नहीं आएंगे तब तक हमें किसी भी सरकार से कोई उम्मीद नहीं रखनी चाहिए। हमें पांच वर्ष में एक बार मौका मिलता है लेकिन इसके बाद भी हम उसकी कीमत नहीं समझते हैं।

मोनिश

फ‌र्स्ट टाइम वोट करने से पहले लगा कि कैसे वोट करूंगी लेकिन वोट करना आसान है। इवीएम से पूरी डिटेल भी पता चल जाती है कि हमने किस प्रत्याशी को वोट किया है। यह अच्छा लगा कि हमारे वोट का रिजल्ट भी दिख रहा है।

वर्षा

=========

यूथ को पता है वोट का महत्व

-जब हम यूथ होकर बूथ पर मतदान करने के लिए नहीं जाएंगे तो हम सरकार से कैसे सोच ले कि सरकार हमारी उम्मीदों पर खरा उतरे। हमें पहले तो मतदान के लिए करने के लिए आगे आना चाहिए। उसके बाद अपनी उम्मीदों को देखना चाहिए।

उपासना

--------------------

-सभी काम बाद में पहले मतदान करने के लिए आई हूं। मतदान के लिए वोटर्स को खुद आगे आना चाहिए। इसमें कोई किसी के लिए नहीं बल्कि खुद का एजेंडा देखकर वोट करना चाहिए। ताकि हम अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए उम्मीद रख सके।

अंशिका

-------------

-मतदान जरूर करना है यही सोचकर सुबह से पहले मतदान केन्द्र पर मतदान करने के लिए आई हूं। क्योंकि जब हम लोग ही मतदान के प्रति उदासीनता दिखाएंगे तो मतदान का प्रतिशत बढ़ेगा नहीं बल्कि घट जाएगा।

मेघा वर्मा

जब भी चुनाव होता है वोट जरूर करता हूं। हमारे वोट में ही वह ताकत है जो देश के विकास के लिए सरकार चुनती है और यदि सरकार उम्मीदों पर खरा न उतरे तो इसी वोट की ताकत से हम उसे सत्ता के सिंहासन से उतार फेंकते हैं।

विनय

हमारे संविधान में वोट करने का अधिकार हमें इसलिए दिया गया है कि हम ऐसे प्रतिनिधि को चुन सकें जो देश और समाज के विकास के बारे में सही निर्णय ले सके। यदि हम वोट नहीं करेंगे तो कोई भी सरकार बने और कैसा भी काम करे हम उसे दोष नहीं दे सकते।

त्रिवेंद्र

पीलीभीत बाईपास रोड वुडरो कॉलेज में जाकर सुबह ही वोट डाला। वोट देना हमारा अधिकार है और सभी को अपने इस अधिकार का सोच समझकर इस्तेमाल करना चाहिए। हमारे वोट से ही देश का विकास जुड़ा होता है।

सुशील

वोट करना हमारा अधिकार है। वोट के जरिए ही हम देश के विकास में अपनी भागीदारी निभा सकते हैं। क्योंकि चुनाव के बाद जो भी सरकार चुनी जाएगी उस पर अगले पांच साल तक देश के विकास का दारोमदार होगा। सरकार चुनने की ताकत सिर्फ हमारे पास ही है।

सीलम

मैनें आज दूसरी बार वोट किया है, यह सोचकर कि जो सरकार बनेगी वह यूथ के रोजगार और उनकी समस्याओं को दूर करने के लिए काम करेगी। मैं खुद वोट करने आई और साथ में अपने परिवार के दूसरे लोगों को भी लेकर आई और उनका वोट भी कराया।

आफरीन

वोट देना हमारा कर्तव्य है यह कभी नहीं भूलना चाहिए। क्योंकि हम अपने वोट से ही किसी प्रत्याशी या सरकार का चयन करते हैं और फिर वह देश के विकास के लिए काम करती है। इसलिए सभी को वोट जरूर करना चाहिए।

रवि कांत

जब भी चुनाव होता है मैं वोट करने जरूर जाती हूं क्योंकि हम कैसी सरकार चाहते हैं यह हम अपने वोट से ही तय कर सकते हैं। बिना वोट किए जो भी सरकार बनेगी वह कैसा काम कर रही है इस पर टिप्पणी करने का भी हमारा अधिकार नहीं रहता है।

शशि मिश्रा

सुबह सबसे पहले वोट करने के परिवार के लोगों के साथ आई हूं। आज के दिन छुट्टी देने का मकसद ही यही है कि सभी लोग अपने मत का यूज कर सकें। सभी को वोट करना चाहिए।

डॉ। निधि

हम कैसी सरकार चाहते हैं यह तय करने के लिए ही हमें वोट का अधिकार दिया गया है। इसीलिए सुबह जागने के बाद सबसे पहले वोट करने के लिए आई हूं। घर के काम निपटाने के लिए तो अभी पूरा दिन बचा है।

सरिता

----------------------------

सीनियर सिटीजन ने समझी जिम्मेदारी

संविधान ने हमें वोट करने का जो अधिकार दिया है उसका प्रयोग जरूर करना चाहिए। अच्छी सरकार चुनने के लिए सभी को वोट करना चाहिए। क्योंकि यदि हम वोट नहीं करेंगे तो फिर जो भी सरकार बनेगी उससे उम्मीद लगाने का भी हमें अधिकार नहीं होगा।

गणेश दत्त पांडेय

------------

मेरी उम्र 80 साल हो चुकी है और आज तक भी ऐसा नहीं हुआ कि चुनाव हुए हों और मैने वोट न किया हो। हमें कैसी सरकार चाहिए यह हम अपने वोट से ही तय करते हैं। गलत सरकार बन गई तो फिर पांच साल तक पछताना पड़ेगा।

राम स्वरूप

-----------------

सुबह साढ़े छह बजे ही वोट डालने पहुंच गया। थोड़ी देर लाइन में लगकर वोट डाला। वोट देने का अधिकारी हमें सरकार ने दिया है इसे हम कैसे छोड़ सकते हैं। हमारी चुनी हुई सरकार ही देश के विकास की योजना बनाती है।

शिव मंगल --------------5

लिस्ट में नाम नहीं

मतदान केन्द्र पर मतदान करने पहुंचे दर्जनों मतदाताओं के पास पर्ची ही नहीं थी। कई लोग पर्ची लेकर पहुंचे लेकिन उनके पास आधार कार्ड नहीं या फिर लिस्ट में नाम नहीं। ऐसे मतदाताओं को कभी बीएलओ तो कभी प्रत्याशियों के बस्ते पर भटकना पड़ा। लेकिन उन्हें मतदान करने को नहीं मिला। आखिर में उन्हें मायूस होकर वापस आना पड़ा।

वोटर पर्ची लेकर मतदान केन्द्र पर पहुंचे

वुडरो सीनियर सेकेड्री स्कूल में कृष्णा नगर निवासी रामचन्द्र पाल 70 वर्षीय मतदान केन्द्र पर मतदाता पर्ची लेकर पहुंचे लेकिन आधार कार्ड लेकर नहीं पहुंचे। मतदान केन्द्र पर उन्हें एंट्री नहीं मिली तो जिस पर बुजुर्ग को दोबारा घर से आधार कार्ड लेकर मतदान केन्द्र पर दोबारा पहुंचे लेकिन मतदान जरूर किया। रामचन्द्र पाल ने कहा कि वह पहले तो एक ही पर्ची लाते थे लेकिन अब नियम चेंज हो गए तो उन्हें भागना पड़ा।

====================

यह नहीं डाल पाए वोट

-मेरा फ‌र्स्ट वोट था, तो काफी उत्साहित थी, सुबह समय से वोट डालने के लिए मतदान केन्द्र पर पहुंची तो पता चला कि लिस्ट में नाम ही नहीं हैं। मायूस होकर वापस लौट आई।

शिवांगी