पर्याप्‍त साक्ष्‍य नहीं हैं: सरताज अजीज
पाकिस्‍तान ने जब मार्च 2016 में कुलभूषण जाधव को गिरफ्तार किया था उसके बाद वहां के विदेश सलाहकार सरताज अजीज ने दिसंबर 2016 में स्‍पष्‍ट कहा था कि जाधव को अपराधी साबित करने के बारे में पर्याप्‍त सबूत नहीं हैं। जो डाजियर पाकिस्‍तान सरकार को मिला है उसके आधार पर नहीं कहा जा सकता कि वे किसी आपराधिक गतिविधि में सलग्‍न थे। ऐसे में पाकिस्‍तान को स्‍पष्‍ट करना चाहिए कि वो किस आधार पर जाधव को इतना कठोर दंड दे रहे हैं।

वीडियो की सच्‍चाई पर शक
कुलभुषण जाधव का अपना अपराध स्‍वीकार करते हुए जो वीडियो पेश किया गया है वो शक के दायरे में आता है। अगर वास्‍तव में कोई भारतीय खुफिया दल का एजेंट है तो वो अच्‍छी तरह से जानता है कि इस तरह के वीडियो में दिये गए बयानों से कोई मदद नहीं मिलती। ऐसे में अगर जाधव ने कोई बयान दिया है तो उसे क्‍यों इस बात की जानकारी नहीं थी और साफ पता चल रहा है कि उसे टॉर्चर करके जबरन ये बातें बुलवाई गयी हैं। ऐसा कोई भी खुफिया एजेंट नहीं करेगा।
तस्‍वीरों में देखें दुनिया के नेताओं के साथ पीएम मोदी की सेल्‍फी

कहा हुई जाधव की गिरफ्तारी
इस सवाल का जवाब जानना इसलिए आवश्‍यक है क्‍योंकि इस बात का कोई पुख्‍ता प्रमाण नहीं है कि पाकिस्‍तानी एजेंसी ने कुलभूषण को वाकई बलोचिस्‍तान में ही गिरफ्तार किया है। भारत का दावा है कि कुलभूषण गलती से पाकिसतानी सीमा में पहुंच गए और अरेस्‍ट कर लिए गए। ऐसा अक्‍सर कई भारतीय और पाकिस्‍तानी नागरिको के साथ होता है कि वे अनजाने में अपने देशों की सीमा पार कर लेते हैं। जाधव के मामले में भी ऐसा लगता है कि वो अनजाने में गलत वक्‍त पर गलत जगह मौजूद थे, वरना उनके बारे में सबूत जरूर मिलता।
टीवी एंकर्स की कहानी कोई खबर देते रो पड़ी तो किसी ने सुनाई अपने ही पति की मौत की खबर

कुलभूषण को बेकसूर साबित करने के लिए काफी हैं ये पांच सवाल

भारतीय पासपोर्ट कहां से आया
सबसे खास बात ये कि जाधव के पास से हिंदुस्‍तानी पासर्पोट बरामद हुआ है जो जाली मुस्‍लिम नाम से बना है। अब सवाल ये है कि एक उच्‍च स्‍तरीय खुफिया एजेंट, जैसा जाधव के बारे में पाक सरकार का दावा है, इतनी बड़ी भूल कैस कर सकता है। क्‍यों वो पूरे डॉक्‍युमेंट और पाकिस्‍तानी पहचान के नहीं गया। एक अनुभवी जासूस से ऐसी बेवकूफी की उम्‍मीद नहीं की जा सकती।
जैमिनी रॉय की इन 12 तस्‍वीरों में समाई है पूरी दुनिया, गूगल मना रहा उनका 130वां बर्थडे

क्‍यों नहीं दिया काउंसलर मुहैया कराने का मौका
भारत का कहना है कि उसे जाधव के लिए काउंसलर मुहैया कराने का मौका नहीं दिया गया। पाकिस्‍तान का कहना है कि उसने मौका दिया और भारत ने उरी हमले से संबंधित व्‍यक्‍ति को काउंसलर नियुक्‍त किया था। भारत ने इस बात से पूरी तरह से नकार दिया है, पर पाकिस्‍तान अपनी बात पर अड़ा हुआ है।

Interesting News inextlive from Interesting News Desk

Interesting News inextlive from Interesting News Desk