जांच एजेंसियों ने डाला डेरा, सुरक्षा घेरे में विधायक का घर

पुलिस खंगाल रही सीसीटीवी फुटेज, 3 हिरासत में

meerut@inext.co.in
MEERUT : भाजपा विधायक संगीत सोम के कैंट एरिया स्थित निवास पर बुधवार रात्रि को हुई फायरिंग मामले में जहां एक ओर विधायक के पीए की तहरीर पर थाना लालकुर्ती में मुकदमा दर्ज हो गया है तो दूसरी ओर एसएसपी अखिलेश कुमार ने विधायक की सुरक्षा में तैनात 5 पुलिसकर्मियों को लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया है. दिन भर चले घटनाक्रम के दौरान विधायक निवास पर समर्थकों का तांता लगा रहा, वहीं पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों ने फोन करके कुशलक्षेम ली.

पीए ने कराया मुकदमा दर्ज

मेरठ की सरधना विधानसभा से भाजपा विधायक संगीत सोम के कैंट एरिया स्थित आवास पर बुधवार रात्रि करीब 12:35 बजे अज्ञात हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की. एक हैंडग्रेनेड भी विधायक के आवास में फेंका. पुलिस ने तफ्तीश कर हैंडग्रेनेड को निष्क्रिय करार दिया. आरोपी सफेद रंग की स्विफ्ट कार से फरार हो गए. गुरुवार दिनभर चली तफ्तीश में पुलिस किसी नतीजे पर अबतक नहीं पहुंची है. विधायक की सुरक्षा में तैनात कांस्टेबल संजीव भारती घटना का चश्मदीद है.

5 पुलिसकर्मी निलंबित

प्रकरण में लोकल पुलिस की लापरवाही उजागर होने के बाद डीजीपी ओपी सिंह के आदेश पर एसएसपी अखिलेश कुमार ने विधायक की सुरक्षा में तैनात मुख्य आरक्षी सजबीर सिंह, कांस्टेबल सतेंद्र सिंह, संजीव भारती, सुरजीत सिंह, मनीष कुमार को निलंबित कर दिया है. घटनाक्रम के दौरान सतेंद्र सिंह और सुरजीत सिंह गायब थे. पुलिसकर्मियों पर हमलावरों पर जवाबी कार्रवाई न करने और लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की गई है.

जांच को पहुंचे अफसर

घटनाक्रम की जानकारी के बाद एसएसपी अखिलेश कुमार समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारी विधायक निवास पर डेरा डाले रहे तो आर्मी के कुछ अधिकारी बंगले के गेट पर पहुंचे और छानबीन की. जेड श्रेणी की सुरक्षा में तैनात सीआपीएफ के सुरक्षाकर्मियों से घटनाक्रम के संबंध में गुरुवार अपराह्न सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट सुरेश कुमार यादव ने पूछताछ की.

3 संदिग्ध से पूछताछ

हमलावरों की धरपकड़ के लिए पुलिस को गुरुवार रात्रि तक कामयाबी हासिल नहीं हुई. हालांकि घटनाक्रम के बाद तफ्तीश में लगी पुलिस ने गुरुवार को 3 संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लिया है.

धुंधली मिली है फुटेज

संवदेनशीलता के चलते आर्मी ने कैंट एरिया में सीसीटीवी कैमरों को प्रतिबंधित कर दिया है. एक आर्मी अधिकारी के निवास के बाहर लगे कैमरे के फुटेज में पुलिस को कार दिखी है. हालांकि फुटेज धुंधला होने के कारण कार का नंबर साफ नजर नहीं आ रहा है. फुटेज को लखनऊ फारेंसिक लैब भेजा जा रहा है. यहां से नंबर ट्रेस होने की संभावना है.

---

विधायक के पीए की तहरीर पर अज्ञात हमलावर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. वीआईपी ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मियों की लापरवाही उजागर होने पर गार्द में शामिल पांचों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. जल्द ही हमलावर पुलिस की पकड़ में होंगे.

-अखिलेश कुमार, एसएसपी, मेरठ