- नहीं चलने दिए दोनों सदन, गुरुवार तक स्थगित

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोकने और सपाइयों पर लाठीचार्ज को लेकर सपा-बसपा ने बुधवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया जिससे दोनों सदनों की कार्यवाही गुरुवार तक स्थगित करनी पड़ गयी. सपा सदस्यों द्वारा इस मुद्दे पर काम रोक कर चर्चा कराने की मांग को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने गैरजरूरी बताया तो संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने सपा-बसपा पर अराजकता फैलाने का आरोप लगा दिया. इससे उत्तेजित विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया. सपा, बसपा व कांग्रेस के सदस्यों ने वेल में धरना व नारेबाजी शुरू कर दी.

तीन दर्जन केले लूटे और पंडितजी का जनेऊ तोड़ा

विधानसभा में हंगामा करता विपक्ष उस समय बिफर गया जब संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने शाहजहांपुर में सपाइयों पर प्रदर्शन के दौरान ठेले और खोमचे वालों से लूट करने का आरोप लगाया. उन्होंने तीन दर्जन केले और दो किलोग्राम संतरे लूटे जाने की बात कही तो सदन ठहाकों से गूंज गया. नारे लगा रहे विपक्षी भी हंसी नहीं रोक पाए. माहौल शांत नहीं हुआ तो विधानसभा अध्यक्ष ने सदन गुरुवार 11 बजे तक स्थगित कर दिया. वहीं विधानपरिषद में सपा के अहमद हसन ने कहा कि एडीएम रैंक के एक अधिकारी ने अखिलेश यादव को रोक कर शालीनता की सारी हदें पार कर दीं. सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के खिलाफ भी धारा 307 का मुकदमा दर्ज करा दिया गया. सरकार सपा-बसपा गठबंधन से बौखला कर ऐसा काम कर रही है.

कुंभ घोटाले की सीबीआई जांच की मांग

प्रयागराज कुंभ में करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कांग्रेस विधायकों ने बुधवार को विधान भवन स्थित चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के निकट सांकेतिक धरना दिया. हाईकोर्ट के जज से कुंभ घोटाले की जांच कराने की मांग करते हुए सदन से सड़क तक योगी सरकार की कलई खोलने की चेतावनी दी. कांग्रेस दल के नेता अजय कुमार लल्लू और विधान परिषद में दल नेता दीपक सिंह ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार की जांच न करवा कर अधिकारियों को बचाने की कोशिश हो रही है. आगजनी कराकर तथ्यों एवं सुबूतों को मिटाने की कोशिश कर रही है.

राज्यपाल को ज्ञापन

वहीं दूसरी ओर बुधवार को सपा और बसपा के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल राम नाईक को राजभवन में ज्ञापन सौंपा जिसमें अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर जबरन रोके जाने की शिकायत की गयी. उन्होंने मामले की जांच कराकर दोषियों पर कठोर कार्रवाई किये जाने की मांग की.