महर्षि पतंजलि विद्या मंदिर में तीन दिवसीय क्रिया योग अभ्यास का आयोजन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शारीरिक व मानसिक तनाव कई बार लोगों को गंभीर रोगों का शिकार बना देती है. ऐसे में शरीर के साथ ही मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखना चाहिए. इसी को ध्यान में रखते हुए महर्षि पतंजलि विद्या मंदिर में तीन दिवसीय क्रियायोग अभ्यास एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन हुआ. इसमें ग्रुप ऑफ स्कूल के सभी विंग के टीचर्स, प्रिंसिपल व मैनजेमेंट के लोगों ने शिरकत किया. क्रियायोग विशेषज्ञा ज्ञानमाता डॉ. राधा सत्यम ने टीचर्स को आंतरिक रूप से मजबूत करने के लिए क्रियायोग की विधियों का अभ्यास कराया.

अंतर्मुखी बनने की प्रक्रिया पर बल

तीन दिवसीय क्रिया योग अभ्यास एवं प्रशिक्षण के दूसरे दिन टीचर्स को अन्तर्मुखी बनाने की प्रक्रिया पर बल देते हुए डॉ. राधा सत्यम ने कहा कि हमें पंचतत्वों के माध्यम से स्वयं को पहचानना है. उन्होंने टीचर्स को भोजन प्रक्रिया पर विशेष बल देते हुए शाकाहारी भोजन करने के लिए प्रेरित किया. तीसरे दिन डॉ. राधा सत्यम ने यौगिक क्रियाओं के अभ्यास के उपरांत उसके महत्व को समझाते हुए शारीरिक व मानसिक क्रियाओं को सुचारूढंग से संचालित करने में क्रियायोग के महत्व के बारे में बाते सांझा की. प्रशिक्षण के दौरान स्कूल की सचिव प्रो. कृष्णा गुप्ता, कोषाध्यक्ष रवीन्द्र गुप्ता, प्रिंसिपल सुष्मिता कानूनगो, गंगागुरुकुलम की प्रिंसिपल अल्पना डे और पतंजलि ऋषिकुल की प्रिंसिपल मोनिका दत्ता समेत सभी टीचर्स भी मौजूद रहे.