अगर रोडीज विनर आंचल खुराना की तरह नहीं होना कार्डिएक अरेस्‍ट का शिकार तो अपनाएं ये उपाय

खायें हेल्‍दी फैट्स ना कि ट्रांस फैट
बिना शक आपके शरीर के लिए फैट्स इनटेक करना जरूरी है, पर वो फैट जो आपके गुड कोलोस्‍ट्राल लेबल HDL को बढ़ाता है। ट्रांस फैट से दूर रहे क्‍योंकि ये आपके शरीर में बैड कोलोस्‍ट्रोल लेबल LDL को बढ़ा देता है। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने फूड के पैक पर लिखे इंन्‍ग्रेडियंटस की लिस्‍ट को जांच लें। इससे आपको पता चल जायेगा कि वो कैसा फूड है।

अगर रोडीज विनर आंचल खुराना की तरह नहीं होना कार्डिएक अरेस्‍ट का शिकार तो अपनाएं ये उपाय

दांतो की सफाई का रखें खास ख्‍याल
जीहां स्‍वस्‍थ और मजबूत दांत आपको तमाम दूसरी बीमारियों के अलावा हृदय रोग से भी सुरक्षित रखते ळें। कई अध्‍ययनों से पता चला है कि दांतों की साफ सफाई ना करने से आपको गम प्राब्‍तम्‍स होती हैं। इस बीमारी के कारण वायरस आपके मुंह से शरीर के अंदर और रक्‍त वाहिनियों में चले जाते हैं और आपको दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। बेहतर है कि दातों को साफ रखें और विशेष रूप से इनकी फलोसिंग करें। यानि दांतों के बीच गंदगी को इकठ्ठा ना होने दें इसे तुरंत साफ करें।

अगर रोडीज विनर आंचल खुराना की तरह नहीं होना कार्डिएक अरेस्‍ट का शिकार तो अपनाएं ये उपाय

नींद पूरी करें
जी हो एक स्‍वस्‍थ इंसान के लिए सात से आठ घंटें की नींद जरूरी है, आप इसमें बिलकुल भी कोताही ना करें और काम के दवाब में नींद की कुर्बानी ना दें। आध अधूरी नींद से व्‍यक्‍ति में कार्डियोवेस्‍क्‍युलर बीमारियों का खतरा बहुत ज्‍यादा बढ़ जाता है। शोध से पता चला है कि 45 से ऊपर के जो लोग छह घंटों से कम की नींद लेते हैं उनमें हार्ट अटैक का खतरा दोगुना होता है।

अगर रोडीज विनर आंचल खुराना की तरह नहीं होना कार्डिएक अरेस्‍ट का शिकार तो अपनाएं ये उपाय

एक ही जगह पर लगातार बैठे ना रहें
कई बार ऑफिस में काम करने वालों को सात से आठ घंटे तक एक ही सीट पर काम करना होता है। ऐसे में हर घ्‍रांटे पांच से दस मिनट अपनी सीट से उठ कर वॉक करें। लगातार एक ही जगह पर घंटों तक बैठे रहने वालों की वेंस में ब्‍लड क्‍लॉट होने की संभवना अत्‍याधिक बढ़ जाती है। रिसर्च कहती हैं कि विश्‍व में दिल की बीमारियों से ग्रस्‍त लोगों में कम से आठ लाख लोग ऐसे हैं जो पूरा दिन एक ही जगह बैठ कर काम करते हैं। करीब 147 प्रतिशत कार्डियोवेस्‍क्‍युलर बीमारियों के शिकार हुए और करीब 90 प्रतिशत दिल के दौरे से मौत का शिकार हुए।

अगर रोडीज विनर आंचल खुराना की तरह नहीं होना कार्डिएक अरेस्‍ट का शिकार तो अपनाएं ये उपाय

सेकेंड हैंड स्‍मोक से बचें
वैसे तो धूम्रपान से जितना हो सके उतना दूर रहें, पर अगर आप के आसपास भी कोई घर या दफ्तर में सिगरेट पीने वाला है तो उससे दूर रहें। अमेरिकन हार्ट एसोशिएशन के अनुसार सेकेंड हैंड स्‍मोकिंग से विश्‍व में करीब 25 से 30 प्रतिशत लोग सेकेंड हैंड स्‍मोकिंग यानि दूसरे के द्वारा छोड़े जा रहे सिगरेट के धूयें से बीमारी का शिकार होते हैं। प्रति वर्ष करीब 34 हजार लोग दूसरों के छोड़े हुए धूयें के चलते प्रीमेच्‍योर हार्ट डिसीज के शिकार होते हैं। वहीं करीब 7300 लोगों को इस वजह से लंग कैंसर होता है। इसलिए धूम्रपान करने वालों से जितना हो सके उतना दूर रहें और धूम्रपान के शौकीन लोग भी सार्वजनिक स्‍थानों और बच्‍चों तथा परिवार के दूसरे लोगों के सामने सिगरेट पीने से परहेज करें।

Health News inextlive from Health Desk

inextlive from News Desk