lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : शामली के बड़े कारोबारी से एक करोड़ की रंगदारी मांगने वाले पांच अभियुक्तों को यूपी एसटीएफ टीम ने अरेस्ट किया है। टीम ने उनके कब्जे से एक पिस्टल, कारतूस, चार मोबाइल फोन व नकदी बरामद की है। गिरफ्त में आए दो आरोपी कारोबारी के रिश्तेदार हैं। उन्होंने बिजनेस का घाटा पूरा करने के लिये रंगदारी मांगने की बात कुबूल की है।

होटल में मौजूद थे
एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह के मुताबिक, बीती 25 जुलाई को शामली के कारोबारी परमानंद को फोन पर अज्ञात बदमाशों ने एक करोड़ रुपये रंगदारी मांगी थी। उन्होंने धमकी दी थी कि अगर परमानंद ने रकम न दी या इस बारे में पुलिस में शिकायत की तो उन्हें मौत के घाट उतार दिया जायेगा। दहशतजदा परमानंद ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच में एसटीफ को जुटाया गया। एसएसपी सिंह ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि शामली स्थित एक होटल में रंगदारी मांगने वाले बदमाश मौजूद हैं। एसटीएफ टीम ने तुरंत वहां पर छापा मारा और वहां पर मौजूद मुजफ्फरनगर निवासी अनिल, दिल्ली निवासी सचिन व देवभूषण उर्फ मोनू, पुष्पेंद्र व नितिन को अरेस्ट कर लिया। एक पिस्टल, कारतूस, चार मोबाइल फोन बरामद किया।

दोस्तों संग मिलकर बनाया प्लान
पूछताछ में सचिन व नितिन ने बताया कि उन्हें बिजनेस में बड़ा घाटा हो गया था। कई कर्जदार उन्हें रुपये चुकाने के लिये दबाव बना रहे थे। इसी घाटे को पूरा करने के लिये उन्होंने अपने रिश्तेदार परमानंद से रंगदारी मांगने का प्लान बनाया। इसमें उन्होंने अपने तीन दोस्तों को भी शामिल कर लिया। सचिन ने बताया कि रंगदारी की मांग उनके कहने पर ही अनिल ने फोन पर की थी। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि अगर परमानंद रंगदारी की रकम देने से मना करता तो वे लोग उसकी हत्या करने का प्लान बना चुके थे।

Crime News inextlive from Crime News Desk