- फ्रॉड रोकने के लिए पासपोर्ट में नाम और एड्रेस की जगह होगा बार कोड

- एड्रेस प्रूफ के तौर पर पासपोर्ट इस्तेमाल न हो पाने के डर से पब्लिक का विरोध


bareilly@inext.co.in

BAREILLY : एड्रेस प्रूफ के लिए पासपोर्ट का यूज करना अब बीते दिनों की बात होगी. सेफ्टी रीजन से पासपोर्ट डिपार्टमेंट ने पासपोर्ट से एड्रेस को हटाने का फैसला लिया है. एड्रेस की जगह बार कोड होगा. ऐसे में, किसी के पासपोर्ट का जीरॉक्स कराकर फ्रॉड पर रोक लग सकेगी. हालांकि, पासपोर्ट होल्डर्स को यह व्यवस्था रास नहीं आ रही है. लोगों ने इसका विरोध भी शुरू कर दिया है. एड्रेस प्रूफ के तौर पर इसका यूज होने देने की मांग कर रहे हैं.


सिक्योरिटी को देखते हुए नई व्यवस्था

माना जा रहा है कि नई व्यवस्था दो महीने के अंदर शुरू कर दी जाएगी. सिक्योरिटी परपज से यह कदम उठाया जा रहा है. क्योंकि, पिछले कुछ वर्षो में पासपोर्ट से छेड़छाड़ के कई मामले सामने आ चुके है, जिसे देखते हुए यह कदम उठाया गया है. यह डिटेल्स पासपोर्ट बुकलेट की नई सीरिज पर होगी. जब तक रीजनल पासपोर्ट ऑफिस के पास पुरानी बुकलेट का स्टॉक मौजूद रहेगा, तब तक आखिरी पन्ने पर पता लिखा जाएगा. उसके बाद बार कोड की नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी.


एक और कैटेगरी का पासपोर्ट लाने की तैयारी

इसी के साथ पासपोर्ट में एक और कैटेगरी आएगी. जिसका कलर अलग होगा. अभी तक विदेश मंत्रालय तीन कलर में पासपोर्ट जारी करता है. सफेद रंग सरकारी अधिकारियों, लाल रंग डिप्लोमेट्स और नीला सामान्य लोगों के लिए. सामान्य लोगों को भी फिलहाल दो कैटेगरी ईसीएनआर और ईसीआर में पासपोर्ट जारी किया जाता है. लेकिन आने वाले दिनों में ईसीआर कैटेगरी वालों को ऑरेंज कलर का पासपोर्ट जारी किया जाएगा. इससे एयरपोर्ट पर पहले ही अधिकारियों को पता चल जाएगा कि वो किसके पासपोर्ट को चेक करेंगे. इससे लोगों और अधिकारियों का इमीग्रेशन चेकिंग में समय कम लेगा. इस पासपोर्ट की छपाई नासिक स्थित प्रेस में शुरू हो चुकी है.


पासपोर्ट बनवाने वालों का विरोध

हालांकि, पासपोर्ट में एड्रेस की जगह बार कोड का इस्तेमाल किए जाने की व्यवस्था पासपोर्ट बनवाने वालों को रास नहीं आ रही है. क्योंकि, वह पासपोर्ट को एड्रेस प्रूफ के लिए सबसे बेस्ट डॉक्यूमेंट मानते हैं. ऐसे में बार कोड होने से वह पासपोर्ट को एड्रेस प्रूफ के लिए कही भी इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. लिहाजा, लोगों का मानना है कि पासपोर्ट पर एड्रेस होना बेहद जरूरी है.


बरेली पीओ के तहत जिले

- बरेली के तहत आने वाले जिले बदायूं, पीलीभीत, सम्भल, बिजनौर, एटा, फिरोजाबाद, अमरोहा, काशीराम नगर, मैनपुरी, मुरादाबाद, रामपुर और शाहजहांपुर.

- बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर और पीलीभीत में पासपोर्ट सेवा केंद्र और पोस्ट ऑफिस में पासपोर्ट बनाए जाने की सुविधा शुरू की गई है. जहां पर क्रमश: 50-50 और 30 अप्वॉइंटमेंट डेली दिए जा रहे हैं.

पासपोर्ट में एड्रेस की जगह बार कोड इस्तेमाल किए जाने की बात चल रही है. हालांकि, पासपोर्ट होल्डर्स नहीं चाहते हैं कि ऐसा हो.

मोहम्मद नसीम, पासपोर्ट ऑफिसर, बरेली रीजन