lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अटल जी के प्रदेश से जुड़ाव को देखते हुए घोषणा की थी कि अटल जी की अस्थियां प्रदेश के सभी जिलों की पवित्र नदियों में विसर्जित की जायेंगी। इसी क्रम में अटल जी की अस्थियां रविवार शाम चार बजे फ्लाइट के जरिये चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पहुंचेंगी। जहां से इन अस्थियों को पूरे राजकीय सम्मान व प्रोटोकॉल से जुलूस की शक्ल में बीजेपी प्रदेश मुख्यालय लाया जायेगा। बताया गया कि अटल जी के अस्थि कलश को पार्टी के मुख्य गेट पर रखा जायेगा ताकि, आम लोग भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर सकें।

ऐसी पूरी हुई थी अंतिम यात्रा
अटल जी का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के लिए वाजपेयी को बीजेपी मुख्यालय से दोपहर 1 बजे के बाद ले जाया गया और शाम 4 बजे से राष्ट्रीय स्मृति स्थल में उनका अंतिम संस्कार शुरू हुआ। बता दें कि शुक्रवार की सुबह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, सेना प्रमुख बिपीन रावत, नौसेना के प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत वाजपेयी के आधिकारिक आवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

दो माह से थे एम्स में भर्ती
अमित शाह भी आज दोबारा गए हैं। इसके अलावा अटल जी का हालचाल लेने के लिए कर्इ राज्यों के मुख्यमंत्री भी एम्स पहुंचे थे। बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री पिछले दो माह से एम्स में भर्ती थे। उन्हें लंबे समय से सांस लेने में परेशानी थी। इसके अलावा यूरीन व किडनी में संक्रमण होने के कारण 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी आज जनता के बीच अपनी राजनीतिक प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते थे। अटल जी तीन बार देश के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। पहली बार अटल बिहारी 1996 में और दूसरी बार 1998 में प्रधानमंत्री बने।

जानें राजधानी लखनऊ में अटल जी थे कितनी प्राॅपर्टी के मालिक

अटल की बदौलत ही आज युवाआें के फिंगर टिप पर है दुनिया, वाजपेयी के वो महत्वपूर्ण फैसले

National News inextlive from India News Desk