KAUSHAMBI: महेवाघाट थाना क्षेत्र के सरसवां गांव में पूर्व मंत्री के प्राइवेट गनर की बेटी के पेट में गोली लगने से गई. गोली लगने की वजह देर शाम तक स्पष्ट नहीं हो सकी. घटना को संदिग्ध मानते हुए पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया.

सरसवां निवासी नरेश पूर्व काबीना मंत्री इंद्रजीत सरोज के प्राइवेट गनर हैं. वह दो दिन पूर्व गांव आया था. गुरुवार की दोपहर करीब दो बजे उसकी 18 वर्षीय बेटी रीता घर पर ही थी. इस बीच अचानक नरेश के दोनाली बंदूक से रीता के पेट में गोली लग गई. फायर की आवाज सुनकर लोग दौड़ पड़े. उसकी हालत देख परिवार में कोहराम मच गया. परिजन उसे अस्पताल ले जाने की तैयारी कर ही रहे थे कि उसकी मौत हो गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. पूछताछ में परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि सफाई के दौरान वह बंदूक को उठाकर एक किनारे रख रही थी. लोड होने की वजह से ट्रिगर दब गया और उसके पेट में गोली लग गई. घटना को लेकर ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं थी. हिनौता चौकी प्रभारी पंधारी सरोज ने कहा कि पेट में गोली लगने से उसकी मौत हुई है. परिवार के लोग कुछ और ग्रामीण कुछ चर्चा कर रहे हैं. मामला संदिग्ध है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.