allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD :
दिल्ली-हावड़ा हाईवे के किनारे सोरांव क्षेत्र में स्थित बिगहिया गांव एक साथ चार लोगों की हत्या से दहल उठा. मां-बेटी, दामाद और नाती को हत्यारों ने धारदार हथियार से मारकर मौत के घाट उतार दिया गया. शुक्रवार की सुबह इसका खुलासा दम्पति की जिंदा बच गयी दो माह की बच्ची की चीख से हुआ. स्पॉट पर जो भी पहुंचा उसकी आंखें फटी की फटी रह गयीं. सभी को वीभत्स तरीके से मारा गया था. सूचना मिलने पर एडीजी से लेकर एसएसपी तक मौके पर पहुंचे. डॉग स्क्वॉड, फोरेंसिक टीम को बुला लिया गया. भारी भरकम फोर्स ने पूरे इलाके को घेर लिया. लेकिन, पुलिस के हाथ घटना का कोई सुराग नहीं था. घटना के संबंध में मृत युवक के चाचा की तरफ से पांच लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है. इसमें हत्या का कारण जमीन को लेकर विवाद बताया गया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है. बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

बिस्तर और जमीन पर पड़ी थी बॉडी
मरने वालों में कमलेश्वरी देवी, उनकी बेटी रिंकी, दामाद प्रताप नारायण मिश्र और छह साल का नाती विराट शामिल है. जिंदा बच गयी दो माह की बच्ची का नाम किसी को नहीं पता. एडीजी एसएन साबत, एसएसपी नितिन तिवारी, एसपी गंगापार सुनील सिंह आदि स्पॉट पर पहुंचे तो दो की बॉडी बेड और दो की बॉडी जमीन पर पड़ी थी. पूरे कमरे में खून बिखरा पड़ा था. घर के सामान बिखरे हुए थे. इससे लूट के इरादे से हत्या का संकेत मिला. लेकिन, अफसरों का मानना था कि संभव हो कि ऐसा जांच की दिशा भटकाने के लिए किया गया हो.

पति दिवंगत, बेटा हो चुका गायब
सोरांव थाना क्षेत्र में दिल्ली-हावड़ा हाइवे के किनारे स्थित बिगहिया गांव के रहने वाले विमल चंद्र पांडेय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थे. काफी साल पहले उनकी बीमार से मौत हो गई. उनकी मौके बाद परिवार में पत्‍‌नी, कमलेश्वरी, एक बेटा और तीन बेटियां बची थीं. बेटा कुछ साल पहले रहस्यमय ढंग से गायब हुआ तो उसका आज तक कुछ पता नहीं चला. तीनो बेटियों की शादी को चुकी है. बेटे के गायब और तीनो बेटियों की शादी के बाद अकेली पड़ गयीं कमलेश्वरी देवी पड़ोसियों से भी ज्यादा संबंध नहीं रखती थीं. दामाद और बेटियां अक्सर आते-जाते थे. कई बार वे रुकते भी थे ताकि उन्हें अकेलापन महसूस न हो.

सिर्फ धारदार हथियार का इस्तेमाल
कमलेश्वरी की एक बेटी किरण का विवाह मेजा थाना के औता गांव निवासी प्रताप नारायण मिश्र से हुआ था. दोनों के एक बेटा विराट व एक दो माह की बेटी है. दूसरी बेटी काजल का विवाह वाराणसी में लगभग दो साल पहले हुआ था. तीसरी बेटी की शादी नवाबगंज एरिया में होनी बतायी गयी है. गुरुवार को कमलेश्वरी देवी, बेटी किरण, दामाद प्रताप नारायण मिश्र, नाती विराट व दो माह की बेटी घर पर थे. सभी ने रात में साथ खाना खाया और सोने चले गये. एसएसपी नितिन तिवारी के अनुसार गश्ती दल डेढ़ बजे रात तक भ्रमण पर था. यानी इसके बाद ही इन सभी को ठिकाने लगाया गया. माना जा रहा है कि बदमाशों ने हमला तब किया जब सभी गहरी नींद में थे. रात में सन्नाटा होने के बाद भी गांव के किसी सदस्य ने चीख-पुकार नहीं सुनी. इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि हत्यारों की संख्या तीन से चार रही होगी. सभी पर वार एक साथ किया गया होगा.

बच्ची के रोने पर लगी भनक
घटना के वक्त घर में कुल पांच सदस्य थे. इसमें एक दो माह की बच्ची भी शामिल थी. बदमाशों ने रहम सिर्फ इसी बच्ची पर दिखाया. उन्होंने बच्ची को हाथ भी नहीं लगाया. सुबह इस बच्ची की नींद खुली तो उसने रोना शुरू कर दिया. लगातार रो रही बच्ची की आवाज ने आसपास के लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा. लोगों को शक हुआ तो वे घर के बाहर पहुंच गये और आवाज लगाना शुरू कर दिया लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिला. इसके बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी और घर का दरवाजा तोड़ दिया गया. इसके बाद जो भी झटके से भीतर गया वह तत्काल वापस आ गया. सामने बेहद हृदयविदारक सीन था. बच्ची के मां-बाप और भाई के साथ नानी को निर्ममता से कत्ल कर दिया गया था. बॉडी के पास ही बच्ची बिलख रही थी. चंद मिनट के भीतर यह खबर जंगल में लगी आग की तरह फैल गयी और पुलिस के साथ लोगों का जमावड़ा लग गया.

घूमता रह गया डॉग स्क्वॉड
पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे तो अवाक रह गये. दिल दहला देने वाला सीन सामने था. बॉडी कमरे में और बिस्तर पर पड़ी हुई थी. सभी के सीने, गर्दन और सिर पर वार किया गया था. कमरे में खून बिखरा पड़ा था. स्पॉट पर ही हत्या में इस्तेमाल धारदार हथियार पड़ा था. सीओ जितेंद्र गिरि ने इसकी पुष्टि की. इसके अलावा घर का सामान भी बिखरा हुआ था. इससे लूटपाट का अंदेशा भी जताया गया. पुलिस का मानना है कि घटना को किसी एक व्यक्ति ने अंजाम नहीं दिया है. इसमें कई लोग शामिल रहे होंगे. जिस अंदाज में हत्या की गयी है वह पुरानी रंजिश और लुटेरों की करतूत दोनो तरफ इशारा कर रही थी. पुलिस ने जमीन विवाद को लेकर हत्या का सच जानने के लिए स्पॉट से फोरेंसिक एवीडेंस कलेक्ट किये. डॉग स्क्वॉड को भी बुलाया गया. उसे लेकर पुलिस की टीम काफी दूर तक टहली लेकिन वह कोई सुराग नहीं दे पाया. सीओ का कहना था कि पुलिस अपनी जांच में हर एंगल को शामिल करेगी. कोशिश होगी कि जल्द से जल्द इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा कर दिया जाय.

भीड़ जुटी तो बुला ली गयी फोर्स
एक साथ चार हत्या की सूचना पर पूरा गांव तो जुटा ही आसपास के गावों के लोग भी पहुंच गये. मेन रोड के किनारे का मकान होने से आने-जाने वाले लोग भी क्या हुआ? जानने के लिए रुक गये. पब्लिक कोई हंगामा न खड़ा कर दे, इस आशंका में बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर बुला लिया गया. एडीजी से लेकर एसएसपी तक खुद मौके पर पहुंच गये. गांव के लोगों से पूछताछ की. स्पॉट का बारीकी से निरीक्षण किया और रिश्तेदारों से पूछताछ की लेकिन, देर शाम तक कोई सुराग हाथ लगने की पुष्टि नहीं हुई.

नोटिस मिलने पर पहुंचे बेटी-दामाद
कमलेश्वरी के पड़ोसियों ने बताया कि मकान सड़क के किनारे स्थित है. पिछले दिनों लोक निर्माण विभाग की तरफ से इलाके में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया था. विभाग ने कमलेश्वरी देवी को मकान गिराने का नोटिस जारी कर दिया था. इसकी सूचना कमलेश्वरी देवी ने अपने बेटी-दामाद को दी तो बेटी रिंकी ऑर दामाद प्रताप नारायण इलाहाबाद आ गये थे. उनके साथ दोनो बच्चे भी थे. इस दौरान उनका जमीन को लेकर कमलेश्वरी देवी के जेठ और साढ़ू से विवाद भी हुआ था. इसमें जान से मार दिये जाने की धमकी दी गयी थी. यह बात पड़ोसियों तक को पता थी लेकिन इसकी सूचना पुलिस को नहीं दी गयी थी.

रिपोर्ट में साढ़ू और जेठ नामजद
घटना के संबंध में सोरांव थाने में रिपोर्ट मृतक प्रताप नारायण पुत्र बाल सखा के चाचा राधा कृष्ण मिश्र ने दर्ज करायी है. इसमें उन्होंने पांच लोगों को नामजद किया है. नामजद लोगों में मृतक के साढ़ू और मृतका के जेठ भी शामिल हैं. रिपोर्ट दर्ज कराने वाले राधा कृष्ण मिश्र ने पुलिस को बताया कि उनका भतीजा अक्सर ससुराल आया करता था. एक सप्ताह पहले दामाद उसकी सास व बेटी के बीच जमीन को लेकर आरोपित अमर व उसके पिता टिकरी निवासी ओम प्रकाश पाण्डेय, लल्ले पाण्डेय, मनोज पाण्डेय ने विवाद किया था. आरोपितों ने जमीन छोड़ देने की धमकी देते हुए कहा था कि ऐसा न होने पर पूरे परिवार को साफ कर दिया जाएगा.

धारदार हथियार से हत्याकांड को अंजाम दिया गया है. प्रथम दृष्टया लूटपाट व जमीन संबंधी विवाद सामने आ रहा है. पुरानी रंजिश को भी खंगाला जा रहा है. कई अन्य बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है. जल्द ही हत्यारों को पकड़ लिया जाएगा.

-नितिन तिवारी,

एसएसपी