होम शॉप कंपनी का कर्मचारी बन कर शातिर ने किया कॉल

रात तक कार न आने पर युवक का माथा ठनका, एसएसपी कार्यालय की शिकायत

आगरा. साइबर के शातिरों ने कंपनी स्थापना दिवस के अवसर पर लकी ड्रॉ में सफारी निकलने का झांसा देकर युवक से एक के बाद एक रुपये जमा करा लिए. जब रात तक उसके पास कार नहीं पहुंची तो उसका माथा ठनका. पीडि़त ने एसएसपी कार्यालय शिकायत दी है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

होम शॉप कर्मचारी बन किया फोन

खटीक पाड़ा, हरीपर्वत निवासी दीपक कुमार आसीवाल पुत्र चंद्रभान आसीवाल फल विक्रेता हैं. उनके पास 19 मार्च को एक कॉल आया. कॉल करने वाले ने खुद को होम शॉप 18 से बताया. शातिर ने कहा कि कंपनी का स्थापना दिवस मनाजा जा रहा है. आपका नम्बर लकी ड्रॉ के लिए चुना गया है. आपकी टाटा सफारी कार निकली है. शातिर ने दीपक से एसबीआई छीपीटोला ब्रांच में 6600 रुपये जमा करा लिए. इसके बाद फिर से कॉल आया और इंश्योरेंस के नाम पर 18500 रुपये जमा कराने की बात कही. इस पर दीपक ने जमा करा दिए. फिर पेट्रोल के नाम पर 10 हजार रुपये जमा कराने की बात बोली तो उसने मना कर दिया. दीपक से पूछा गया कि कार कैसे लेनी है ट्रांसपोर्ट के जरिए या फिर वाय रोड. ट्रांसपोर्ट का खर्चा 15 हजार व वाया रोड का खर्चा 10 हजार बताया. दीपक ने वाया रोड की हामी भर दी. फिर से रुपये जमा कराने की बात की तो फिर मना कर दिया.

चालक ने जमा कराए रुपये

इसके बाद फिर कॉल आया और बोला गया कि 5000 ही जमा करा दें, शेष कार मिलने के बाद दें. इस पर उसने पांच हजार जमा करा दिए. इसके बाद उसे चालक का नंबर दिया गया. 20 मार्च की सुबह 6:30 उसके पास चालक का कॉल आया कि रात में तीन बजे डीडीओ ऑफिस में गाड़ी पकड़ ली है. छोड़ने के एवज में 16700 रुपये जमा कराने की बात की. इस पर दीपक ने रुपये जमा करा दिए.

जान से मारने की दी धमकी

इतना रुपया देने के बाद भी उसके पास कार नहीं आई. उसने कॉल किया तो दस हजार रुपये और जमा कराने की बात करने लगे. इस पर उसने दिया हुआ रुपया वापस मांगा. इस पर कॉल पर बात करने वाले युवक ने धमकी देना शुरु कर दिया. उसने धमकी दी कि उन्हें उसका एड्रेस पता है. वह उसे जान से मार देंगे. पीडि़त ने एसएसपी कार्यालय मामले की शिकायत की है.