- फैक्ट्री लगाने के नाम पर दो लोगों से 33 लाख रुपए ठगने वाले को पुलिस ने मुंबई से धरा

- कोर्ट में नौकरी लगवाने का झांसा देकर महिला ने ठगे 3.5 लाख रुपए

- रिटायर्ड फौजी को दो ठगों ने जमीन दिलाने के नाम पर ठग लिए 33 लाख रुपए

देहरादून, दून में ठगी के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है. ट्यूजडे को 33 लाख रुपए की ठगी के मामले में पुलिस ने लंबे समय से फरार एक आरोपी को दबोच लिया. तो वहीं, 36 लाख रुपए की ठगी के दो मामले फिर सामने आये हैं. पुलिस ने दोनों मामले दर्ज कर लिए हैं, जिनकी जांच शुरू कर दी गई है. इधर फैक्ट्री लगाने का झांसा देकर दो लोगों से 33 लाख रुपए ठगने वाले आरोपी को पुलिस ने जेल भेज दिया है.

केस 1- नौकरी लगाने का झांसा, 3.5 लाख ठगे

थाना नेहरू कॉलोनी पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मदन मोहन जोशी निवासी सरस्वती विहार अजबपुर खुर्द ने तहरीर दी, कि सितंबर 2017 में उनके परिचित तारा जोशी निवासी बंजारावाला ने कोर्ट में सरकारी नौकरी लगाने को लेकर उनकी मुलाकात बबीता रानी वर्मा से करवाई, बबीता रानी ने कोर्ट में नौकरी लगवाने के लिए 7 लाख की डिमांड की साथ ही शर्त रखी कि नौकरी लगवाने से पहले आधा पेमेंट करना होगा. परिजनों ने विश्वास में आकर बबीता को अलग-अलग किश्तों में 3.50 लाख रुपए दे दिए. तीन महीने बीत जाने के बाद जब नौकरी नहीं लगी, तो पैसे वापस देने को लेकर पहले तो वह टालती रही, फिर उसने उनको 3.50 लाख रुपए का चेक दिया जो बाउंस हो गया. इसके बात पीडि़त ने थाने मे तहरीर दी, पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

केस 2- जमीन के नाम पर 33 लाख ऐंठे

थाना रायपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पीडि़त रमेश कुमार पुत्र स्व. जनार्दन प्रसाद रिटायर्ड फौजी निवासी नेहरू ग्राम ने तहरीर दी कि ममता गर्ग व प्रदीप गर्ग से मौजा रायपुर में एक जमीन की खरीद के लिए सौदा हुआ था. जमीन के लिए उन्होंने 33 लाख रुपए भी दोनों को दे दिये थे, लेकिन मौके पर देखी गई जमीन की रजिस्ट्री करवाने में आरोपी टाल मटोल करने लगे और दूसरी जमीन दिलाने की बात करने लगे. दूसरी जमीन के लिए 11 जून को रजिस्ट्री करने की बात कही गई. इसके बाद रमेश जब ममता गर्ग व प्रदीप गर्ग के घर पहुंचा तो उन्होंने जमीन बेचने से मना कर दिया और गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है.