आगरा. अगर आप एटीएम से रुपये निकालते हैं या अन्य ट्रांजेक्शन करते हैं तो सावधान हो जाइए. वजह साफ है, आपका पिन चोरी हो सकता है. हाल ही पुलिस की जांच में पोस्ट ऑफिस का एटीएम संदेह के घेरे में आ गया है. इस एटीएम मशीन में डाले गए कार्डो से पिन चोरी हुआ है. हाल ही में आई शिकायतों से पुलिस के संज्ञान मामला आया है.

एटीएम में स्कीमर लगाया
संजय प्लेस स्थित पोस्ट ऑफिस का एटीएम बाहर ही बना हुआ है. वहां पर कोई गार्ड तैनात नहीं रहता. लगातार शिकायतों के बाद पुलिस का माथा ठनका. पोस्ट ऑफिस के एटीएम में स्कीमर लगाए जाने की प्रबल सम्भावना बन रही है. एसपी क्राइम मनोज सोनकर ने मामले में साइबर सेल को जांच के लिए निर्देशित किया है.

सीसीटीवी खंगाले की टीम
एटीएम मशीन में स्कीमर लगे होने की संभावना से ये बात पक्की है हो गई है कि अभी और मामले प्रकाश में आ सकते हैं. हाल ही में जो मामले प्रकाश में आए हैं वे 15 अप्रैल से 25 अप्रैल के बीच के हैं. मामले में पोस्ट ऑफिस एटीएम मशीन की पिछले महीनों की सीसीटीवी फुटेज मंगवाई गई है. जिससे स्कीमर लगाने वाला शातिर पुलिस की पकड़ में आ सके.

तुरंत चेंज करें अपना एटीएम पिन
यदि आपने भी संजय प्लेस स्थित पोस्ट ऑफिस के एटीएम से 15 से 25 अप्रैल के बीच रुपये निकाले हैं. तो तुरंत अपना एटीएम पिन नम्बर चेंज कर लें चूंकि आपके पिन नम्बर चेंज होने की सम्भावना है. शातिरों ने इन कार्डो के क्लोन तैयार कर लिए हैं.

इस तरह से बरतें सावधानी
साइबर एक्सपर्ट बताते हैं कि यदि कभी एटीएम से रुपये निकालने जाए तो पहले चेक करें कि की पैड के टॉप पर कहीं कोई कैमरा तो नहीं लगा है. चूंकि स्कीमर से कार्ड बनाने के बाद पिन की जरुरत हमेशा रहती है. पिन डालने के दौरान दूसरे हाथ से की पैड को ढक लें.

वर्जन

ये बड़ा मामला है. लोगों को अलर्ट हो जाना चाहिए. पता नहीं कब किसका रुपया निकल जाए. सभी तुरंत अपना पिन चेंज करें.

एकता शर्मा

शातिर स्कीमर लगा कर पिन चोरी कर कार्ड का क्लोन बना लेते हैं. एटीएम को देख ही ट्रांजेक्शन करना चाहिए.

रचना शर्मा

अब ऐसे मामले बढ़ते जा रहे हैं. साइबर क्राइम की संख्या में तेजी आई है. खुद सतर्क रहना ही इससे बचने का तरीका है.

नीतू गोयल

वर्जन

मामले में साइबर टीम को निर्देशित किया गया है. फुटेज मंगवाए गए हैं. स्कीमर लगे होने की सम्भावना है. टीम मामले में जांच कर रही है.

मनोज सोनकर, एसपी क्राइम

वर्जन

एटीएम से रुपये निकालने के दौरान दूसरे हाथ से कीपैड को ढक लें. आरबीआई की गाइड लाइन के मुताबिक 25 हजार रुपये के फ्रॉड पर बैंक जिम्मेदार होती है. बैंक 10 दिन में निस्तारण करेगी. यदि बैंक नहीं सुनती तो मुख्यालय शिकायत कर सकते हैं. रुपये निकलने के तुरंत बाद कस्टमर केयर फोन पर शिकायत दर्ज कराएं.

अनुज अग्रवाल, साइबर एक्सपर्ट