gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: फेक पासबुक के सहारे दूसरे के खाते से रकम निकालने आई जालसाज महिला को मंगलवार को बैंक कर्मियों ने पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया. हालांकि इस बीच उसका एक पुरुष साथी भागने में सफल रहा. इलाहाबाद बैंक सिविल लाइंस के मुख्य प्रबंधक अजय प्रकाश की तहरीर पर कैंट पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी. पुलिस फरार जालसाज की तलाश कर रही है.

पहले भी निकाल चुकी है पैसा

इलाहाबाद बैंक सिविल लाइंस में जानकी देवी के नाम से खाता है. जालसाज फेक पासबुक बनाकर उनके खाते से कई बार बैंक से पैसे निकाल चुके हैं. इसकी जानकारी होने पर पीडि़ता ने बैंक अधिकारियों से शिकायत की. इसके बाद बैंक कर्मी सतर्क हो गए थे. मंगलवार दोपहर एक महिला बैंक पहुंची. उसने धन निकासी का फॉर्म भर कर काउंटर पर दिया. पासबुक देखते ही बैंक कर्मी ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी. अधिकारियों ने महिला और उसके साथ आए एक पुरुष से पूछताछ शुरू कर दी. इस बीच पुरुष चकमा देकर फरार हो गया. पूछताछ में पकड़ी गई महिला की पहचान खोराबार के कांशीराम आवास निवासी पारस की पत्‍‌नी दुर्गा देवी के रूप में हुई. फरार व्यक्ति कि पहचान सहजनवा निवासी राजकुमार यादव के रूप में हुई. बैंक कर्मियों ने इसकी सूचना कैंट पुलिस को दी. बैंक मैनेजर अजय प्रकाश की तहरीर पर पुलिस ने दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी का मुकदमा दर्ज कर महिला को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसके पास से मिले पासबुक और निकासी फॉर्म को जब्त कर लिया.