क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : सिटी के टॉप हॉस्पिटल्स सेंटेविटा, मेदांता, ऑर्किड समेत गुरुनानक अस्पताल में भी गरीब मरीजों का मुफ्त इलाज किया जाएगा. जी हां, 23 सितंबर को शुरू हो रही आयुष्मान भारत योजना में इम्पैनल करने के लिए इन अस्पतालों द्वारा भी आवेदन दिया गया है. रांची के सिविल सर्जन डॉ वीबी प्रसाद ने बताया कि शहर में जितने भी अच्छे अस्पताल हैं उनको इस योजना के तहत जोड़ा जाएगा. फिलहाल सिटी के 33 अस्पतालों ने इस योजना से जुड़ने के लिए आवेदन दिया है. इनमें शहर के सभी टॉप अस्पताल भी शामिल हैं.

लाखों रुपए होता है खर्च

शहर के इन टॉप अस्पतालों में इलाज कराने पर लाखों रुपए खर्च होते हैं. गरीब आदमी के बस में यहां ईलाज करना संभव नहीं है. लेकिन आयुष्मान भारत योजना से जुड़ने के बाद इन अस्पतालों में भी गरीब आदमी अपना इलाज करा सकेंगे. सिविल सर्जन डॉ वीबी प्रसाद ने बताया कि बड़े अस्पतालों के पास हर तरह की जांच से लेकर अच्छे डॉक्टरों की सुविधा उपलब्ध है. इसलिए इन अस्पतालों के योजना से जुड़ने के बाद वैसे लोग जो खर्च अफोर्ड नहीं कर पाते हैं उनका भी बेहतर इलाज हो सकेगा. अब इन अस्पतालों में लोग पांच लाख रुपए तक का मुफ्त में इलाज करा सकेंगे. गंभीर बीमारी होने के बाद भी अब लोगों का ईलाज किया जाएगा. उनके ईलाज में अब पैसे की किल्लत बाधक नहीं होगी.

1350 बीमारियों का होगा इलाज

इस योजना के तहत 1350 तरह की बिमारियों का ईलाज किया जाएगा. इसके तहत जितनी भी छोटी-बड़ी बीमारियां हैं सभी का इलाज किया जाएगा. इस योजना के तहत जो बड़े अस्पताल हैं जहां हर तरह की सुविधा है वहां लोगों का इलाज हो सकेगा. बड़े अस्पतालों में जांच से लेकर आईसीयू, ओटी, हर तरह की सुविधा उपलब्ध रहती है. इन अस्पतालों में बड़ी बीमारियों के इलाज की भी सुविधा उपलब्ध है.

33 अस्पतालों ने दिया आवेदन

रांची में अभी तक 33 अस्पतालों ने इस येाजना से जुड़ने के लिए आवेदन दिया है. इसमें बड़े अस्पताल भी शामिल हैं. इस योजना के तहत जिन अस्पतालों के पास 10 बेड का हॉस्पिटल है सभी को जुड़ने का मौका मिलेगा. डॉ वीबी प्रसाद ने बताया कि इस योजना के लिए अस्पतालों ने आवेदन दिया है, लेकिन जो गाइडलाइन है उसको फ ॉलो करने वाले अस्पतालों को ही इससे जोड़ा जाएगा. लेकिन जितना अधिक से अधिक अस्पताल इस योजना से जुड़ेंगे लोगों को लाभ मिलेगा.

वर्जन

आयुष्मान भारत योजना के तहत रांची के सभी अच्छे अस्पतालों ने इंपैनल होने के लिए आवेदन दिया है. इन अस्पतालों में लोगों का मुफ्त ईलाज किया जाएगा. रांची में अब तक 33 अस्पतालों ने आवेदन दिया है. और भी अस्प्ताल इस योजना में शामिल होंगे.

-डॉ वीबी प्रसाद, सिविल सर्जन, रांची