prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: सिटी मजिस्ट्रेट के पास बार-बोर फोन कर बोनस क्लेम देने के नाम पर फ्राड की कोशिश कर रही एक कंपनी की महिला कर्मचारी को महंगा पड़ा। सिटी मजिस्ट्रेट की तहरीर पर सिविल लाइंस पुलिस ने महिला के खिलाफ फ्राड करने की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है।

सिटी मजिस्ट्रेट रजनीश कुमार मिश्र के पास एक महिला बार-बार फोन कर रही थी। फोन पर उसका हर मर्तबा यही कहना था कि वह मैक्स लाइफ की कर्मचारी बोल रही है। कंपनी द्वारा बोनस क्लेम दिया जाना है। इसके लिए वह आईडी व उनके बैंक खाते की डिटेल मांग रही थी। दो-तीन बार सिटी मजिस्ट्रेट ने उसके कॉल को नजरंदाज किया। बावजूद इसके वह कॉल करना बंद नहीं की। उसकी मंशा को भांपते हुए सिटी मजिस्ट्रेट ने मामले की तहरीर सिविल लाइंस पुलिस को दी। सिविल लाइंस पुलिस ने मैक्स लाइफ के नाम पर फोन करने वाली महिला नेहा शर्मा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है। सिविल लाइंस इंस्पेक्टर सुनील चौरसिया का कहना है कि मामला जिले के अधिकारी से जुड़ा है। जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। महिला की गिरफ्तारी के बाद ही मामला क्लियर होगा।