बोरिंग ट्रिंग-टिंग ही बेहतर
सिटी के गोरखनाथ के रहने वाले नौशाद ने पिछले दिनों रिलीज हुई आशिकी टू मूवी का सुपरहिट सांग 'हम तेरे बिन अब जी नहीं सकते' बतौर कॉलर ट्यून लगवा रखी थी। उन्होंने अपने फ्रेंड्स को इसके बारे में बताया और इसे सुनने के लिए कहा। जब उसके फ्रेंड्स ने फोन किया तो बजाए कॉलर ट्यून के पहले तो कॉलर ट्यून लगाने के तरीके और उसके चार्ज बताए फिर बाद में चल रही आईसीसी चैम्पिंयस ट्राफी का लेटेस्ट अपडेट जानने का तरीका बताने लगे। जब नौशाद ने फोन रिसीव किया तो उसने पूछा कैसी लगी टोन। तो उसे फ्रेंड ने बताया कि टोन सुनाई दे तब न बताएं, मैंने तो सिर्फ प्रोमोशनल ऑफर के बारे में ही सुना है। इसके बाद नौशाद ने फौरन ही कॉलर ट्यून डीएक्टिवेट कर दी। उसका कहना है कि भले ही मेरे 45 रुपए बर्बाद हो गए लेकिन जब कॉलर ट्यून नहीं सुनाई देगी तो इसे लगाने से फायदा क्या? इससे अच्छी तो मेरी बोरिंग ट्रिन-ट्रिन ही है।

मैच स्कोर जाने फलां नंबर पर
यह बात आम हो गई है कि कॉल करने के दौरान कॉलर ट्यून सुनने का मौका तो आपको बाद में मिलता है। जब भी आप किसी नंबर पर कॉल करते हैं जिस पर कॉलर ट्यून सर्विस एक्टिवेट है तो आपको डायल करते ही सबसे ट्यून को कॉपी करने का तरीका बताते हैं इसके बाद अगर मैच चल रहा हो तो उसके लाइव स्कोर या फिर रिजल्ट हो तो दसवीं व बारहवीं के रिजल्ट के बारे में जानकारी दी जाती है। ऐसे में कस्टमर्स 45 रुपए पे करने के बाद भी अपने चाहने वालों को अपनी पसंदीदा टोन नहीं सुना पाता और कंपनी की ब्रांडिंग के लिए वह अपनी जेब से पैसा खर्च करता है।

कंगाल कर सकती है यह ट्यून
यंू तो मोबाइल यूजर का एक बड़ा मास कॉलर ट्यून का यूज करता है। इसी कॉलर ट्यून के बीच में आपको कई तरह के क्विज भी सुनाए जाते हैं। जिनमें एक आसान से जवाब देने पर आप लखपति या करोड़पति बन जाएंगे। कॉलर ट्यून सर्विस वाले फोन पर जब आप कॉल करते हैं तो एक मैडम अपनी सुरीली आवाज में आपको करोड़ो रुपये जीतने का मौका देती हैं । वो आपसे किसी फिल्म या सेलिब्रेटी से जुड़ा सवाल पूछती हैं। कई बार ऐसा होता है कि लोग में फंस भी जाते हैं। पहले एक सवाल और फिर दूसरा सवाल ऐसे ही कई और सवालों के साथ विनिंग प्राइज बढ़ता जाता है, लास्ट में नौबत यह हो जाती है कि सारा बैलेंस खत्म हो जाता है। यानि कि एक तरफ कंपनी आपसे कॉलर ट्यून का चार्ज ले रही है, वहीं दूसरी ओर अपना ही प्रमोशन कर रही है। इससे भी उनका जी नहीं भरता तो उसमें कई ऐसे ऑफर दे देती है जिससे कि आपका बैलेंस तो खत्म हो ही जाए और बीच में कॉल डिस्कनेक्ट होने की वजह से आपको कुछ हासिल भी न हो सके। इसके लिए कॉल रेट नॉर्मल नहीं बल्कि अलग तय किए जाते हैं।

कंपनियों की बल्ले-बल्ले
मोबाइल कंपनियां अपने कस्टमर की जेब ढीली करने के लिए लगातार कुछ न कुछ करती रहती हैं। पिछले कुछ सालों में कॉलर ट्यून का क्रेज काफी बढ़ा है। नेटवर्क चाहें कोई भी हो पर कॉलर ट्यून में गाना सलेक्शन चार्ज 15 रुपये और इसे कंटीन्यू करने के लिए पर महीने में 30 रुपए का चार्ज हर कस्टमर से लिया जाता है। लोग न जाने कहां-कहां से कॉलर ट्यून चुनते हैं और अपने फोन नंबर पर उसे लगवाते हैं। अपने फोन नंबर पर किसी भी तरह की सर्विस एक्टिवेट कराने के लिए आप उसका तय चार्ज देते हैं। पूरा चार्ज देने के बाद हर कॉलर को चुनी गई कॉलर ट्यून सुनाई देनी चाहिए मगर ऐसा नहीं होता। जिस कॉलर ट्यून सर्विस के लिए आप अपना पैसा खर्च करते हैं उस पर कंपनी अपनी तमाम सुविधाओं का एड करती है और आप कुछ कर भी नहीं सकते।

कॉलर ट्यून चार्जेस

ऑपरेटर     मंथली चार्ज     सांग सेलेक्शन
बीएसएनएल     30             12 (30 दिन)
वोडाफोन        30             15 (90 दिन)
एयरटेल          30             15 (90 दिन)
आईडिया        30              15 (90 दिन)
रिलायंस         30               5 (30 दिन)

report by : syedsaim.rauf@inext.co.in