-तत्काल टिकट बुक कराने के बाद ट्रेन लेट होने या कैंसिल होने की स्थिति में पैसेंजर्स ले सकेंगे सौ परसेंट रिफंड

-काउंटर और ई-टिकट दोनों पर मिलेगी फैसिलिटी

varanasi@inext.co.in

VARANASI

रेलवे ने नई व्यवस्था शुरू की है. तत्काल टिकट बुक कराने के बाद संबंधित ट्रेन के लेट होने या उसके कैंसिल होने की स्थिति में अब पैसेंजर सौ परसेंट रिफंड ले सकेंगे. रेलवे ने पांच शर्तो पर तत्काल टिकट को कैंसिल कराने पर पूरा फेयर वापस देने की व्यवस्था शुरू की है. बता दें कि इसके पहले तत्काल टिकट पर कोई रिफंड नहीं मिलता था.

इनको मिलेगा पूरा किराया वापस

नई व्यवस्था के तहत काउंटर और ई-टिकट दोनों पर फुल रिफंड मिलेगा. नए नियम के मुताबिक ट्रेन के शुरुआती स्टेशन पर तीन घंटे लेट से आने, रूट डायवर्ट होने, पैसेंजर्स के बोर्डिग स्टेशन से ट्रेन के नहीं जाने और कोच के डैमेज होने व बुक टिकट वाली कैटगरी में यात्रा की सुविधा नहीं मिलने पर यात्रियों को 100 परसेंट रिफंड मिलेगा. अगर यात्री को लोअर कैटगरी में जर्नी की सुविधा मुहैया कराई जाती है तो रेलवे किराए के अंतर के साथ ही तत्काल का चार्ज भी लौटाएगा.

ये है तत्काल टिकट

तत्काल टिकट बुकिंग की सुविधा अर्जेट परिस्थिति के लिए मुहैया कराई गई है, ताकि कम समय में पैसेंजर्स को टिकट मिल सके. यात्रियों को इस सुविधा के अंतर्गत बुकिंग के दौरान सामान्य फेयर के अलावा तत्काल टिकट के फीस का भी भुगतान करना होता है. तत्काल कोटा के अंतर्गत टिकट की बुकिंग रेलवे काउंटर पर होती है. हालांकि तत्काल टिकट की बुकिंग अब आसानी से रेलवे की वेबसाइड आईआरसीटीसी से ऑनलाइन भी कराई जा सकती है.

अलग-अलग है बुकिंग टाइम

एसी कैटगरी में तत्काल टिकट की बुकिंग सुबह 10 बजे से स्टार्ट होती है, जबकि नॉन एसी क्लास की बुकिंग सुबह 11 बजे से होती है. तत्काल टिकट की बुकिंग यात्रा से एक दिन पहले करानी पड़ती है. एक पीएनआर पर अधिकतम चार पैसेंजर्स की ही टिकट बुकिंग हो सकती है.