GORAKHPUR: बांसगांव के टिकरिया बुजुर्ग गांव में छेड़खानी को लेकर बवाल हो गया. मनबढ़ों ने छेड़खानी का विरोध करने वाले भाई की पिटाई कर दी. इसी विवाद में दो पक्ष के लोग आमने-सामने हो गए. देखते ही देखते दोनों पक्ष में पथराव होने लगा जिसमें पांच लोग घायल हो गए. गांव में बवाल की खबर पाते ही एसपी साउथ ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी फोर्स के साथ गांव में पहुंच गए. एहतियातन गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है.

बहनों को छोड़ने ससुराल आ रहा था रोशन

टिकरिया बुजुर्ग गांव निवासी सूबेदार दिल्ली में रहते हैं. इन दिनों वह गांव में पुश्तैनी मकान का मरम्मत कराने आए हैं. उनकी दो विवाहिता बेटियां भी आई थी. बुधवार की सुबह भाई रोशन बहनों को ससुराल छोड़ने जा रहा था. आरोप है कि गांव के पास ही विक्की निषाद, श्रवण, राहुल और लालू ने बहनों पर अभद्र टिप्पणी की. बहनों से बदसलूकी होने का रोशन ने विरोध किया तो वह मारपीट पर उतारू हो गए लेकिन ग्रामीणों के एकत्र होने पर धमकी देते हुए फरार हो गए थे. गुरुवार की सुबह किसी काम से रोशन गांव से बाहर गया था. आरोप है कि छेड़खानी की बात को लेकर ही मनबढ़ों ने रोशन की पिटाई शुरू कर दी. मारपीट होने की खबर पाते ही उसके घरवाले एकत्र हो गए. थोड़ी ही देर में दोनों ही परिवार के लोग आमने-सामने हो गए और पथराव शुरू हो गया. मारपीट में दोनों पक्षों से राहुल, राजेश, महेश, सूरज और यशवंत निषाद गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.