- पंचायत भवन की जमीन पर कब्जा विवाद में गिरा दी गई थी बाउंड्री

- थाने लाए गए साथियों को छुड़ाने पहुंचे सैकड़ों ग्रामीणों ने कर दिया पथराव

- एसओ की कार, बस सहित तोड़ी थाने की खिड़की, पुलिस की कार्रवाई में तीन घायल

GORAKHPUR: गगहा एरिया के ग्राम पंचायत बेलावीरभान का अस्थौला मंगलवार को पुलिस और पब्लिक की लड़ाई का मैदान बन गया. खलिहान की जमीन पर हो रहे अवैध कब्जे की दीवार गिराने को लेकर एक पक्ष के लोगों की गिरफ्तारी से गुस्साए ग्रामीणों ने थाने पर जमकर बवाल काटा. जमकर ईंट-पत्थर चले. गुस्साई भीड़ ने एसओ की कार, बस सहित थाने की खिड़की का शीशा भी तोड़ दिया. वहीं, पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में हवाई फायरिंग और लाठी चार्ज सहित रबर बुलेट्स दागे. बवाल में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. घायल जित्तु 65, भोलू 15 व दीपक 16 को ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गगहा ले गए. जहां डॉक्टर्स ने उनकी हालत गंभीर देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया. उधर पुलिस व ग्रामीणों के बीच घंटों चले इस संघर्ष की सूचना पर कई थानों की फोर्स, पीएसी और सभी पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए थे. करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद स्थिति पर काबू पाया जा सका. इस बवाल में दर्जनों पुलिस कर्मी भी घायल हो गए.

चले ईट-पत्थर, गाडि़यां भी तोड़ीं

एहतिहात के तौर पर थाना परिसर से लेकर इलाके में भारी फोर्स व पीएसी तैनात कर दी गई है. मिली जानकारी के मुताबिक जिस वक्त थाना परिसर से गोलियां चलनी शुरू हुई, ग्रामीणों ने थाने के बाहर आकर सड़क जाम कर दी और गेट से ही पत्थर बाजी करते रहे. इस बीच घंटों चले बवाल से गोरखपुर-वाराणसी मार्ग के दोनों ओर सड़क पर गाडि़यों की लंबी लाइन लग गई. उग्र ग्रामीणों ने पुलिस की जीप सहित थाना परिसर में खड़ी कई गाडि़यों में तोड़फोड़ भी की. दूसरी ओर ग्रामीणों का हंगामा देख थाने के सिपाही अपने कमरे मे दुबके रहे. सुबह करीब सुबह 11.30 बजे कई थानों की फोर्स आ गई और उपद्रव कर रहे ग्रामीणों को बल प्रयोग कर शांत कराया. इस दौरान इलाके में काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही.

लापरवाही से हो गया जमीन पर कब्जा

अस्थौला मे खलिहान की जमीन पर हो रहे अवैध कब्जे से राजस्व विभाग पूरी तरह से अनजान है. आरोप है कि पुलिस की जानकारी में खलिहान की पूरी जमीन पर धीरे-धीरे ग्रामीण कब्जा करते रहे लेकिन राजस्व व ग्राम प्रधान को भनक तक नहीं लगी. मंगलवार को इतनी बड़ी घटना के बाद जब घटनास्थल पर पहुंचे डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने हल्का लेखपाल से पूछा कि कभी गांव मे आते हो, तुम्हे कब्जे की कोई जानकारी थी. क्या अवैध कब्जा धारकों के खिलाफ 122बी की कार्रवाई की गई है तो लेखपाल कुछ बोल ही नहीं पाए. डीएम ने खलिहान की जमीन का सीमांकन कर पूरी जमीन खाली कराने का निर्देश दिया.

वर्जन

पंचायत की जमीन पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में विवाद हुआ है. सफाईकर्मी लालचंद पर कब्जा करने का आरोप है. दीवार गिराने वालों को पुलिस ने पकड़ा था. उसी की प्रतिक्रिया में उनके पक्ष के लोगों ने थाने पहुंच कर पथराव किया है. पुलिस ने 27 लोगों को हिरासत में लिया है. अब गांव में शांति है. अन्य आरोपों की जांच की जाएगी.

- दावा शेरपा, एडीजी