-छात्रसंघ चुनाव को लेकर आंदोलन तेज

-राज्यपाल को लेटर भेजे जाने के बाद ही वापस लौटे स्टूडेंट्स

-डेट और चुनाव अधिकारी डिक्लेयर करने की मांग पर अड़े थे स्टूडेंट्स

GORAKHPUR: छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर स्टूडेंट्स का विरोध प्रदर्शन जारी है. सोमवार को स्टूडेंट्स ने वीसी ऑफिस में कब्जा जमाकर करीब तीन घंटे तक बवाल काटा. स्टूडेंट्स की मांग थी कि वीसी तत्काल चुनाव अधिकारी और डेट की घोषणा करें. काफी बहस-व-तकरार और हो हल्ला के बाद वीसी ने राज्यपाल को लेटर लिखकर फैक्स कराया. उन्होंने स्टूडेंट्स को आश्वासन भी दिया है कि अगर विश्वविद्यालय प्रशासन चुनाव कराने के लिए तैयार है. अगर उन्हें राज्यपाल की मौखिक अनुमति भी मिल जाती है, तो वह चुनाव अधिकारी और डेट डिक्लेयर कर देंगे.

दो बजे िदया था समय

पिछले चार दिनों से अनशन पर बैठे स्टूडेंट्स को वीसी प्रो. वीके सिंह ने दोपहर दो बजे मिलने के लिए समय दिया था. इस दौरान चुनाव की दावेदारी कर रहे छात्रों के साथ पुराने छात्रनेता भी वीसी से मिलने के लिए पहुंचे और तत्काल चुनाव की डेट डिक्लेयर करने की मांग करने लगे. छात्रों ने जमकर हंगामा और नारेबाजी भी की. इस दौरान चीफ प्रॉक्टर और पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा हुआ था. वीसी शासन के निर्देश से चुनाव होने का हवाला दे रहे थे, जबकि छात्रनेता वीसी को सक्षम बताते हुए छात्रसंघ चुनाव की डेट डिक्लेयर करने की मांग पर अड़े हुए थे.

शिक्षक, कर्मचारी चुनाव, तो छात्रसंघ क्यों नहीं?

वीसी से मिलने पहुंचे स्टूडेंट्स ने पहले वीसी ऑफिस में डेरा जमाया और वहीं बैठ गए. इस दौरान प्रॉक्टोरियल बोर्ड के मेंबर्स ने काफी समझाने की कोशिश की, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुए. उन्हें समझाने के लिए यूनिवर्सिटी चौकी इंचार्ज के साथ सीओ प्रभात राय ने भी स्टूडेंट्स को काफी समझाने की कोशिश की, लेकिन स्टूडेंट्स अपनी मांगों पर अड़े थे. स्टूडेंट्स का कहना था कि जब यूनिवर्सिटी में शिक्षक संघ, कर्मचारी संघ चुनाव हो सकता है, तो छात्रसंघ चुनाव क्यों नहीं कराया जा सकता है. जबकि छात्रसंघ चुनाव के लिए यूनिवर्सिटी बाकायदा सभी स्टूडेंट्स से फीस भी वसूलती है.

तीन घंटे तक चला हंगामा

मांगों को लेकर अड़े स्टूडेंट्स ने करीब तीन घंटे तक हंगामा किया. करीब दो घंटे के बाद पूर्व छात्रनेता रहे महेंद्र राय भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने वीसी से राज्यपाल को लेटर लिखकर अनुमति मांगने का अग्रह किया. वीसी ने बात मानते हुए तत्काल ही राज्यपाल के नाम लेटर बनवाया और खुद को चुनाव कराने के लिए तैयार बताते हुए, उनका दिशा-निर्देश मांगा है. वीसी ने कहा कि अगर राज्यपाल मौखिक अनुमति भी दे देते हैं, तो वह चुनाव कराने के लिए तैयार हैं.

16 को सीएम से मिलकर बात रखेगा प्रितनिधिमंडल

यूनिवर्सिटी में चुनाव की मांग को लेकर पहुंचे छात्र नेताओं को वीसी ने यह भी ऑफर दिया कि 16 को सीएम से मिलने जाएंगे. इस दौरान 4-5 छात्रनेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल भी उनके साथ जा सकता है, तो सीएम से चुनाव की मांग कर सकता है. अभी छात्रनेता इस पर मंथन कर रहे हैं और इसको तय कर रहे हैं कि प्रतिनिधिमंडल जाना भी है या नहीं, अगर जाएगा तो उस डेलीगेशन में कौन-कौन से छात्रनेता होंगे.