- जुलूस और कल्चरल प्रोग्राम्स के साथ हुई गणपति की प्राण प्रतिष्ठा

- समितियों की ओर से मंदिरों में महाआरती और महाभोग का आयोजन

<

- जुलूस और कल्चरल प्रोग्राम्स के साथ हुई गणपति की प्राण प्रतिष्ठा

- समितियों की ओर से मंदिरों में महाआरती और महाभोग का आयोजन

BAREILLY:

BAREILLY:

भजनों से गूंजते पांडाल, गणपति बप्पा मोरिया और जय गणेश देवा के जयघोष के साथ फ्राइडे को शुभ मुहूर्त में पांडालों में गणेश प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की गई. गणेश चतुर्थी के पावन अवसर पर दोपहर से शोभायात्रा का क्रम शुरू हो गया. श्रद्धालुओं ने नाचते गाते गणेश प्रतिमा को पांडालों तक ले गए. जहां विधिवत और परंपरानुसार स्थापना की गई. साथ ही घरों में भी मुहूर्त के अनुसार स्थापना की गई. सेलीब्रेशन में कहीं कोई कमी ना रहे इसके लिए पांडालों की डेकोरेशन फ्राइडे को भी जारी रही.

शोभायात्रा में उल्लास का माहौल

गणेश चतुर्थी पर गणेशोत्सव समितियों ने शोभायात्रा निकाली. श्री शिव शक्ति दुर्गा जी धाम मंदिर से निकाली गए शोभायात्रा की शुरुआत खलील हायर सेकेंड्री स्कूल से शुरू होकर बिहारीपुर ढाल होते हुए शिव मंदिर तक पहुंची. जिसमें गणेश की भव्य प्रतिमा समेत अन्य देवी देवताओं और शिव परिवार की झांकी आकर्षण का केंद्र रही. पुष्पवर्षा से स्वागत हुआ. ढोल नगाड़ों पर नाचते गाते हुए श्रद्धालु भक्ति में सराबोर रहे. इसके अलावा, श्री गणेश पूजन समारोह समिति, गणेश महोत्सव आयोजन कमेटी, बाबा श्री तपेश्वरनाथ, श्री गणेश पूजन समिति, गणेश महोत्सव आयोजन समिति, श्री शिव परिवार सेवा समिति की शोभायात्रा में गणेश की विशाल प्रतिमा आकर्षक का केंद्र बनी रही.

यहां सजाए गए पांडाल

शोभायात्रा और जुलूस का दौर देर शाम समाप्त होने के बाद पांडालों में प्राण प्रतिष्ठा का सिलसिला शुरू हुआ. इस बाबत शहर के कई इलाकों समेत मंदिर कमेटी की ओर से गणेश प्रतिमा की स्थापना की गई. इसमें मराठा बुलियंस, विभूति नारायण मंदिर, बड़ी बबनपुरी दुर्गा मंदिर, मठ की चौकी, दो पांडाल करगैना, आलमगीरी, सौदाकरन, चौकी चौराहा, श्री आनंद आश्रम समेत करीब फ्म् पांडाल सजाए गए हैं. इन सभी पांडालों में देर शाम गणपति बप्पा की विधिवत् पूजा अर्चना, मंत्रोच्चार सहित स्थापना की गई. सिविल लाइंस स्थित हनुमान मंदिर पर हिन्दू जागरण एकता समिति की ओर से महाआरती और महाभोग का कार्यक्रम आर्गनाइज किया गया.