-मोहर्रम की तैयारियों में जुटी पुलिस, पीस कमेटी की मीटिंग

-गणेश चतुर्थी पर भी रहेंगे पुख्ता इंतजाम, 20 को मूर्ति विसर्जन

BAREILLY: सावन और जन्माष्टमी के बाद अब पुलिस की टेंशन मोहर्रम को लेकर बढ़ गई है. मोहर्रम से पहले गणेश चतुर्थी भी है. खैलम, खजुरिया, उमरिया, काशी व अन्य जगहों पर हुए विवाद के बाद पुलिस ज्यादा अलर्ट है. इसलिए पुलिस अभी से ही तैयारियों में जुट गई है. थानों में पीस कमेटी की मीटिंग शुरू हो चुकी हैं. डीजीपी ने भी सभी जोन, रेंज और जिलों के अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए हैं. सैटरडे को एसएसपी भी थानों के निरीक्षण पर निकल पड़े और मोहर्रम की तैयारियों को लेकर सख्त निर्देश ि1दए हैं.

गणेश चतुर्थी पर 8 दिन प्रोग्राम

गणेश चुतर्थी के कार्यक्रम 13 सितंबर से शुरू हो रहे हैं. 13 सितंबर से मूर्तियों की स्थापना होगी. उसके बाद 20 सितंबर को मूर्ति विसर्जन किया जाएगा. इस दिन शहर में कई जुलुस निकलेंगे. जिसमें कई जुलूस कोतवाली एरिया से होकर ही निकलेंगे. जुलूस शहर के सेंसिटिव एरिया से होकर रामगंगा तक जाते हैं. इस दौरान विवाद होने की संभावना बनी रहती है और कई बार हादसे भी होते हैं, जिसके बाद लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ने का डर बना रहता है. इसी लिए पुलिस अभी से ही जुलूसों के आयोजकों से संपर्क में जुट गई है.

ताजिएदारों का मांगा रिकॉर्ड

गणेश चतुर्थी के तुरंत बाद मोहर्रम है. ऐसे में पुलिस अभी से ही ताजिएदारों के साथ मीटिंग में जुट गई है. एसएसपी ने सभी सीओ को थानों में पीस कमेटी की मीटिंग आयोजित करने के निर्देश दिए हैं. सैटरडे को सुभाषनगर थाना में सीओ टू सीमा यादव की मौजूदगी में ताजिएदारों के साथ मीटिंग की गई. एसएसपी ने सभी थाना प्रभारियों से उनके यहां के ताजिएदारों की लिस्ट मांगी है. ताकि जरूरत होने पर एसएसपी ऑफिस से इन लोगों से संपर्क किया जा सके.

ताजिये के रूट देखने के निर्देश

एसएसपी ने ताजिये के रूट को लेकर निर्देश दिए हैं कि ऐसे स्थान चिह्नित कर लिए जाएं, जहां पहले विवाद हुए हैं. रूट में कोई पेड़ या बिजली का तार तो नहीं है. उसे भी हटवा दिया जाए. क्योंकि पिछले वर्ष बहेड़ी में हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से ताजिए में आग लग गई थी, जिसमें डेढ़ दर्जन लोग झुलस गए थे.

थानों का रिकॉर्ड देख भड़के एसएसपी

मोहर्रम की तैयारियों को लेकर एसएसपी मुनिराज जी स्वयं थानों की विजिट पर निकल पड़े. सैटरडे को वह पहले नवाबगंज थाना गए और फिर क्योलडि़या थाना गए. यहां रजिस्टर देखे तो रिकॉर्ड में काफी कमियां मिलीं. इस पर एसएसपी ने खासी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने मोहर्रम को लेकर विवाद न हो, इसके लिए खुराफातियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए. क्योलडि़या थाना पुलिस को भी विवादित रूट चिह्नित कर निस्तारण के निर्देश दिए. क्योलडि़या थाना में गंदगी पर एसएसपी ने काफी नाराजगी जताई और तुरंत सफाई के निर्देश दिए.